कांग्रेस ने राष्ट्रविरोधी लोगों से मिलाया हाथ: अमित शाह

नई दिल्ली(10 दिसंबर): गुजरात चुनाव में बीजेपी के सामने चुनौती पेश कर रही कांग्रेस को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को कई मोर्चों पर घेरा। शाह ने कांग्रेस पर वोट बैंक की राजनीति करने के आरोप लगाए। 

- शाह ने कहा कि सिर्फ वोट के लालच में कांग्रेस राष्ट्रविरोधी ताकतों से हाथ मिला रही है और 2017 में 2002 का जिक्र करने के पीछे भी उसकी यही मंशा है। 

- अमित शाह ने रविवार को गांधीनगर में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी घेरा। शाह ने कांग्रेस को ध्रुवीकरण की जननी बताते हुए कहा, 'कांग्रेस ने गुजरात चुनाव में अपना आधार ही जातिवाद को बनाया है। कांग्रेस के होने वाले अध्यक्ष (राहुल गांधी) ने मंदिर-मंदिर दौड़ लगाई। कांग्रेस ही देश में ध्रुवीकरण की जननी रही है।' 

- अमित शाह ने कहा, 'कांग्रेस नेता चरण सिंह ने कहा है कि पीएम मोदी को जामा मस्जिद में जाना चाहिए और 2002 के दंगों के लिए माफी मांगनी चाहिए। पूरा देश जानता है और साबित हो चुका है कि कांग्रेस के मोदी जी पर लगाए यह आरोप झूठे और निराधार हैं और मोदी जी साफ हैं। इसके बावजूद वोट बैंक के लिए कांग्रेस 2017 में 2002 का मुद्दा उछाल रही है।' 

- कांग्रेस पर राष्ट्रविरोधी ताकतों का साथ मांगने का आरोप लगाते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा,'पीएफआई से पैसे लेते हुए जिग्नेश मेवाणी की तस्वीर वायरल हुई। पीएफआई संगठन हमेशा देश विरोधी गतिविधियों का हिस्सा रहा है। राहुल गांधी ऐसे व्यक्ति से मिलते हैं जिसके देश विरोधी ताकतों से संबंध हैं और वोट बैंक के लिए कांग्रेस ऐसे लोगों को अपनी सीट भी देने को तैयार है।' 

- शाह ने कहा, 'कांग्रेस को जिग्नेश के पीएफआई से संबंधों की जानकारी है वरना पार्टी उन्हें टिकट दे देती। कांग्रेस फिर भी वोट बैंक के लालच में बाहर से समर्थन कर रही है।' बता दें, गुजरात विधानसभा चुनाव का पहला चरण शनिवार को पूरा हो चुका है और दूसरे चरण का मतदान 14 दिसंबर को होना है।