कांग्रेस ने घोटाले का ओडियो टेप जारी कर रिजिजू से मांगा इस्तीफा

नई दिल्ली (13 दिसंबर): अरुणाचल प्रदेश के एक हाइडल प्रॉजेक्ट में करप्शन के आरोपों में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू का नाम आने के बाद कांग्रेस ने उनके खिलाफ सबूत होने का दावा किया है। इसी के साथ कांग्रेस ने उनके इस्तीफे की मांग की है।

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक ऑडियो टेप जारी किया। पार्टी का दावा है कि इस ऑडियो टेप में नॉर्थ ईस्टर्न इलेक्ट्रिकल पावर कॉर्पोरेशन (NEEPCO) के सेंट्रल विजिलंस ऑफिसर रहे सतीश वर्मा और रिजिजू के कथित चचेरे भाई गोबोई रिजिजू के बीच की बातचीत है।

सुरजेवाला ने कहा कि इस बातचीत को सुनने पर यह साबित होता है कि केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने अपने ठेकेदार भाई को फायदा पहुंचाने के लिए मंत्री पद का गलत इस्तेमाल किया। कांग्रेस ने यह दावा कर भी चौंका दिया कि इस टेप का अरुणाचल में सरकार को गिराने की कोशिशों से भी गहरा ताल्लुक है।

सुरजेवाला के मुताबिक सेंट्रल विजिलंस ऑफिसर रहे सतीश वर्मा ने अपनी जांच रिपोर्ट में इस प्रॉजेक्ट में 450 करोड़ रुपये के घोटाले का जिक्र किया था। रिपोर्ट में बताया गया था कि किस तरह फर्जी बिलों के सहारे पेमेंट लिए जा रहे थे, फर्जी नंबर के वाहनों से पत्थरों को ढाने का काम कागजों पर दिखाया जा रहा था। जिन ट्रकों का इस्तेमाल दिखाया गया था, जांच में उनके नंबर स्कूटर और बाइक के पाए गए।

वहीं एक ट्रक को एक ही वक्त में अलग-अलग जगहों पर काम करते हुए भी दिखाया जा रहा था। जांच में यह भी पाया गया कि जो पत्थर 5km से लाए जा रहे थे, उनके लिए भाड़ा 80km के हिसाब से लिया जा रहा था।