माल्या के बयान पर कांग्रेस का बीजेपी पर हमला, मोदी सरकार चौकीदार नहीं भागीदार है



न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 सितंबर): देश से फरार अरबपति व्यापारी विजय माल्या ने कहा है कि भारत छोड़ने से पहले उन्होंने मामला सुलझाने के लिए वित्त मंत्री से मुलाकात की थी। वेस्टमिंस्टर में प्रत्यर्पण की सुनवाई के बाद माल्या ने कोर्ट के बाहर यह बयान दिया।  इस मामले में सफाई देते हुए अरुण जेटली ने कहा कि माल्या का दावा तथ्यात्मक रूप से गलत है।








माल्या ने कहा, "भारत छोड़ने से पहले मामले के निपटारे के लिए मैं वित्त मंत्री से मिला था। मैंने बैंकों के साथ मामला सुलझाने के लिए दोबारा ऑफर भी दिया था। बैंकों ने निपटारे के प्रस्ताव वाली मेरी चिट्ठियों पर आपत्ति दर्ज की थी।"

इस बीच माल्या प्रकरण पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला किया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार चौकीदार नहीं भागीदार है।