जिसने पाक को कहा ना, उस फाइटर जेट कंपनी ने भारत में मांगी जमीन

नई दिल्ली (4 अगस्त): यह खबर पाकिस्तान और चीन दोनों देशों को परेशान कर सकती है, क्योंकि लड़ाकू विमान एफ-16 बनाने वाली अमेरिकी कंपनी लॉकहिड मार्टिन ने अपना मुख्य कारखाना भारत में शिफ्ट करना चाहती है। इसके अलावा वह भारत में ही अपना मुख्‍य एक्‍सपोर्ट केंद्र बनाना चाहती है।

कंपनी ने एक अधिकारी ने कहा कि कंपनी ने इस बारे में भारत सरकार को औपचारिक प्रस्‍ताव दिया है। बता दें हाल में ही कि अमेरिकी सांसदों की आपत्ति के बाद पाक को ये विमान देने पर रोक लग गई है...

- एफ-16 का मुख्य कारखाना अभी अमेरिका के टेक्‍सस में है। - कंपनी के आला अधिकारी रैंडी हावर्ड ने कहा, 'हमने भारतीय रक्षा मंत्रालय को इस बारे में औपचारिक प्रस्ताव दिया है। - अगर भारत सरकार इसे मान लेती है तो कंपनी 36 महीने बाद भारत के कारखाने में एफ-16 लड़ाकू विमान की सबसे अडवांस किस्म ब्लॉक-70 का प्रॉडक्शन करना शुरू कर देगी। - इसमें अडवांस आएसा रेडार और अन्य इलेक्ट्रानिक वॉर सिस्टम लगे होंगे। - यह विमान की चौथी और पांचवीं जेनरेशन के बीच का मॉडल है। फिलहाल एफ-16 की फोर्थ जेनरेशन चल रही है।'

भारत को एक्‍सपोर्ट का मुख्‍य केंद्र... - कंपनी ने भारत के कारखाने को ही एक्सपोर्ट का मुख्य केंद्र बनाने की भी बात कही है। - दुनियाभर के देशों में एफ-16 भारत से भेजा जाएगा। - एफ-16 विमान ने भारतीय वायुसेना के 126 विमानों के टेंडर में हिस्सा लिया था, लेकिन इसे चुना नहीं गया था। भारत ने फ्रांस के 36 रफेल को खरीदने का फैसला किया था।

पर यह है पेच... - कंपनी ने कहा कि भारतीय वायुसेना की ओर से एफ-16 के लिए ऑर्डर देने की स्थिति में ही भारत में एफ-16 का कारखाना लगाने की योजना लागू की जाएगी। - उन्होंने कहा फिलहाल कंपनी के पास अगले चार सालों तक के लिए दूसरे देशों को एफ-16 सप्लाई करने के आर्डर हैं।