2016 में खुलेगा नौकरियों का पिटारा, सैलरी में भी होगा इजाफा

नई दिल्ली(2 जनवरी): साल 2016 में नौकरी की बहार आने वाली है। एचआर रिपोर्ट के मुताबिक इस साल कंपनियों को करीब 10 लाख नए लोगों की जरूरत है, जबकि पुराने कर्मचारियों की सैलेरी मे भी 10 से 30 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो सकती है।

मायहायरिंग क्लब डॉट कॉम के एक ताजा सर्वे के मुताबिक देशभर के 12 शहरों की 12 सेक्टरों की 5480 कंपनियां इस साल नई भर्तियों को लेकर पूरी तरह तैयार हैं। केंद्र सरकार के डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया कार्यक्रम भी इस साल कंपनियों को अपनी मानव क्षमता बढ़ाने के लिए प्रेरित करेगी।

टाइम्सजॉब्स पोर्टल के रोजगार परिदृश्य 2016 सर्वेक्षण के अनुसार, देशभर में लगभग 60 प्रतिशत नियोक्ता संगठनों ने नियुक्तियों को लेकर सकारात्मक रुख दिखाया है। यह सर्वे 1,614 नियोक्ताओं पर आधारित है। टाइम्सजॉब्स के सीओओ विवेक मधुकर ने कहा कि सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया व मेक इन इंडिया कार्यक्रमों पर जोर दिए जाने के बीच 2016 में प्रौद्योगिकी व विनिर्माण क्षेत्रों में श्रमबल की मांग बढ़ने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि इकामर्स तथा स्टार्टअप (नई कंपनियां) इस साल बड़ी संख्या में नई नौकरियां देंगे।

कौन से सेक्टर की रहेगी डिमांड

पिछले साल की ही तरह इस साल भी रिटेल, फिनांस और टेक्नोलॉजी क्षेत्रों में बड़ी संख्या में नौकरियां आने की उम्मीद है। इस साल मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की कई अंतरराष्ट्रीय कंपनियां भारत में बड़ी मात्रा निवेश करने जा रही हैं, जिससे उम्मीद है कि इस साल मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में नौकरियों की अपार संभावनाएं देखने को मिलेगी।