कश्मीर में 50 साल बाद घाटी में बजी 'अमन की घंटी'

नई दिल्ली (30 अक्टूबर): कश्मीर में तमाम कोशिशों और बातचीत के ऐलान के बाद अब आम जिंदगी भी पटरी पर लौटती दिखने लगी है। अमन बहाली की ओर कश्मीरी अवाम की कोशिशों के बीच रविवार के दिन एक अनोखी मिसाल देखने को मिली। कश्मीर घाटी में रविवार को ईसाई धर्म के एक कार्यक्रम के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द का एक अनोखा उदाहरण देखने को मिला।  श्रीनगर में रविवार को मुस्लिम, हिंदू, सिख और ईसाई समुदाय के प्रतिनिधि सांप्रदायिक सौहार्द की एक मिसाल पेश करते हुए 121 वर्ष पुराने एक कैथलिक चर्च में घंटी बजाने की परंपरा निभाने के लिए आज एकजुट हुए। बीते 50 साल में ऐसा पहली बार हुआ है जब ब्रिटिश काल में बनी इस चर्च में घंटी बजाने की रस्म अदा की गई हो। बड़ी बात ये कि करीब पांच दशक के बाद हुए इस आयोजन को घाटी के हर समुदाय के लोगों ने अपनी भागीदारी से खास बनाया।