पासपोर्ट का रंग बदलने से खून के रिश्ते नहीं बदलते


नई दिल्ली (28 जून): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नीदरलैंड के हेग में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि पासपोर्ट का रंग बदलने से खून के रिश्ते नहीं बदलते हैं। उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत 'का हाल बा' कहकर की।  हेग में तीन हजार भारतीयों के सामने संबोधन करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पूर्वज एक ही हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हर हिंदुस्तानी हर कोने में राष्ट्रदूत की तरह है। सालों बाद भी भारतीय प्रवासी के दिल में देश जिंदा है। उन्होंने कहा कि दुनिया के सभी संप्रदायों को भारत में पूरा गौरव मिलता है। लोगों को भारत की अनेकता में एकता देखकर आश्चर्य होता है।

पीएम मोदी ने कहा, 'हिंदुस्तान में 100 भाषाएं और 1700 से अधिक बोलियां हैं। जब दुनिया को इसके बारे में पता चलता है तो उन्हें आश्चर्य होता है कि कैसे 100 भाषाओं के बीच जी रहे हैं। कोई भी हिंदुस्तानी दुनिया में गर्व के साथ खड़ा हो सकता है कि मेरा देश विविधताओं से भरा हुआ है।'