'परमाणु बम से ज्यादा खतरनाक है ये डैम, लाखों लोगों की मौत का कारण बन सकता है'

नई दिल्ली (29 दिसंबर): इराक में पनबिजली तैयार करने के लिए बनाया गया मोसुल बांध 1980 से अब तक अपनी कमियों के बावजूद टिका हुआ है लेकिन यह बांध अब कभी भी दरक सकता है और यदि वह किसी कारण टूटा तो उसके पानी से जल प्लावन की स्थिति आ जायेगी और लोगों को बचाना मुश्किल हो जायेगा। इससे टिगरिस नदी के आसपास की आबादी डूब जायेगी ।

बांध की मरम्मत चल रही है फिर भी यह किसी भी क्षण टूट सकता है। बांध में इतना पानी है, जो आतंकी संगठन आईएस के कब्जे वाले शहरों को बहा ले जाने और बगदाद को जलमग्न करने के लिए काफी है। ये बांध 2014 में कुछ समय के लिए इस्मालिक स्टेट के नियंत्रण में था जिसके कारण इसकी मरम्मत के काम में बाधा आई। बग़दाद में अमरीकी दूतावास के मुताबिक, बांध ध्वस्त होने की सूरत में बाढ़ का पानी लगभग उन 15 लाख लोगों की मौत का कारण बन सकता है जो टिगरिस नदी के आसपास रहते हैं।