अगर आपकी जेब में भी है 10 का सिक्का तो पढें यह बेहद जरूरी खबर

 

नई दिल्ली(17 अक्टूबर): दिल्ली में एक और नकली सिक्कों की फैक्ट्री का पर्दाफाश हुआ है। क्राइम ब्रांच ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से 10 रुपए के 8 हजार सिक्के, 10 डाई, दो हाइड्रोलिक मशीन के साथ कुछ रॉ मैटीरियल बरामद किया है। ये फैक्ट्री दिल्ली के पीरागढ़ी इलाके में चलाई जा रही थी। इससे पहले भी पुलिस दिल्ली में दो और नकली सिक्के बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश कर चुकी है।

- इन दोनों से पूछताछ की जा रही है।

- अभी कुछ लोग फरार हैं और उनकी तलाश की जा रही है।

- पुलिस का कहना है कि इस मामले में अभी कुछ लोग फरार हैं और उनकी तलाश की जा रही है। यह गिरोह पिछले काफी समय से सक्रिय था। पुलिस का कहना है पिछले काफी समय से 10 रुपए के सिक्कों को लेकर बाजार में अलग-अलग चर्चाएं गरम हैं। यहां तक कि कई बार लोग इसे स्वीकार करने से मना कर दे रहे हैं।

ऐसे पहचानें 10 रुपए के सिक्कों को

सिक्कों की पहचान का नोटिफिकेशन आरबीआई ने 2007 में जारी किया था और इस समय तक रुपये का निशान अस्तित्व में नहीं आया था।

 यहां जानिए कि आखिर 10 रुपये के सिक्कों की पहचान कैसे की जाए…

इन सिक्कों का चेहरा तीन हिस्सों में बंटा हुआ है जिसमें ऊपर और नीचे दो लाइनों के जरिए इन्हें बांटा गया है।

सिक्के के बीच के हिस्से में अशोक चक्र बना होना चाहिए और इसके नीचे सत्यमेव जयते लिखा होना चाहिए।

सिक्के के ऊपरी हिस्से यानी लाइन के ऊपर हिंदी में “भारत” और अंग्रेजी में ‘INDIA” लिखा होना चाहिए।

सिक्के के तीसरे हिस्से यानी दूसरी लाइन के नीचे उस सिक्के को जारी करने का साल नंबरों यानी अंकों में लिखा होना चाहिए।

इस सिक्के को पलटने पर आप देखें कि सबसे ऊपर जो निशान बने हुए हैं वो वृद्धि और संबंधों को दिखाता है।

इसके बाद बीच के हिस्से में 10 का अंक अंतर्राष्ट्रीय अंकों में लिखा होना चाहिए।

सबसे नीचे के भाग में पहले हिंदी में “रुपये” और अंग्रेजी में “RUPEES” लिखा होना चाहिए।