अपनी काली कमाई का मधु कोड़ा ने खाड़ी और दक्षिणपूर्व के देशों में खूब किया निवेश

रांची (14 दिसंबर): देश में घोटाले का पर्याय बने झारखंड के पूर्व मधु कोड़ा ने अपने पद का दुरूपयोग कर ठेका और बड़े प्रोजेक्ट का काम देकर अकूत संपत्ति अर्जित की। मधु कोड़ा ने इन पैसों की लूट का निवेश विदेशों में भी किया। ED ने मधु कोड़ा और उनके सहयोगियों पर 3549.72 करोड़ के मनी लॉड्रिंग का मामला दर्ज किया।

आरोप है कि कोड़ा ने अवैध रूप से कमाए गए हजारों करोड़ रुपये का निवेश खाड़ी के देशों और दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में किया। कोड़ा पर राज्य की खनिज संपदा का अनाप शनाप ढंग से अवैध लीज देने, राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना में हैदराबाद की कंपनी को गलत ढंग से ठेका देने एवं अनेक अन्य सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार करने और अपने पद का दुरुपयोग करने के मामले दर्ज हैं।  जिनकी जांच CBI, ED के साथ-साथ आयकर विभाग भी कर रहा है। 

मधु कोड़ा जिस समय झारखंड के मुख्यमंत्री थे उस समय मार्इनिंग लीज देने और रद करने का खेल भी हुआ। कोड़ा एंड कंपनी जिसे चाहती थी उसे ही मार्इनिंग लीज मिलता था। इसके बदले मोटी रकम वसूली जाती थी। कई हवाला कारोबारी भी मधु कोड़ा के साथ थे। विदेशों में पैसा हवाला के माध्यम से ही पहुंचाया जाता था। अनिल बस्तावडे को इंटरपोल ने जकार्ता से गिरफ्तार किया था। विनोद और विकास सिन्हा लाइर्जंनग का काम देखते थे। मनोज पुनमिया हवाला कोराबारी के साथ- साथ सोना का कारोबार करते थे। जांच के बाद इडी ने सभी पर 3549.72 करोड़ के मनी लॉड्रिंग करने का आरोप लगाया है।