Blog single photo

मंदी के मौसम में बेरोजगारों के लिए अच्छी खबर, कोल इंडिया देगी 10 हजार लोगों को रोजगार

पीएसयू के लिए कोयला उत्पादन का लक्ष्य 660 मिलियन टन रखा गया है जो देश के कुल कोयला उत्पादन का करीब 82 फीसदी है। उन्होंने कोल इंडिया की विस्तार और कैपिटल इन्वेस्टमेंट वाली नीति की प्रशंसा की। अगर ये कंपनियां अपने आकार को बढ़ाती हैं तो आने वाले दिनों में रोजगार के हजारों अवसर भी पैदा होंगे।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (1 नवंबर): रोजगार के मुद्दे पर लगातार आ रही बुरी खबर के बीच एक अच्छी खबर आई है। सरकारी कंपनी कोल इंडिया अगले वित्त वर्ष में 750 मिलियन टन कोयले का उत्पादन करेगी और इस दौरान करीब 10 हजार लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। यह बात केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कही है। कोल इंडिया वित्त वर्ष 2024 तक 1 अरब टन कोयले का उत्पादन करेगी।

इस मौके पर प्रह्लाद जोशी ने कोल इंडिया से कहा कि आने वाले दिनों में उर्जा की जरूरतों की भरपाई के लिए वह जरूरी कदम उठाए। साथ में उन्होंने सभी पीएसयू से कहा कि कोयला मंत्रालय उनकी मदद के लिए पूरी तरह से तैयार है।

फिलहाल पीएसयू के लिए कोयला उत्पादन का लक्ष्य 660 मिलियन टन रखा गया है जो देश के कुल कोयला उत्पादन का करीब 82 फीसदी है। उन्होंने कोल इंडिया की विस्तार और कैपिटल इन्वेस्टमेंट वाली नीति की प्रशंसा की। अगर ये कंपनियां अपने आकार को बढ़ाती हैं तो आने वाले दिनों में रोजगार के हजारों अवसर भी पैदा होंगे।

कोयला सेक्टर में ऑटोमैटिक रूट से 100 फीसदी एफडीआई के सरकार के फैसले पर उन्होंने कहा कि इससे इस सेक्टर में संरचनात्मक सुधार होगा और उसकी जरूरत भी है। विदेशी निवेश की मदद से भारत कोयले का कम से कम आयात करेगा जिसका हमें बहुत फायदा होगा। उन्होंने कोल इंडिया से अपील की कि वह जल शक्ति अभियान में साथ दे और जल संरक्षण जैसे बड़े मिशन में सरकार की मदद करे।

Images Courtesy: Google

Tags :

NEXT STORY
Top