पुलिस स्मृति दिवस: सीएम योगी ने शहीद होने वाले जवानों की राशि की दोगुनी

लखनऊ(21 अक्टूबर): पुलिस के शहीदों की स्मृति में अयोजित स्मृति दिवस परेड में सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने प्रत्येक शहीद के परिजनों को 40 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा भी कर दी। उत्तर प्रदेश पुलिस के 76 जवान 1 साल में शहीद हो गए। देश भर में सर्वाधिक जवानों की मौत यूपी से हुई है। यूपी के जाबांजों ने अपनी शहादत से प्रदेश का नाम गौरवान्वित कर दिया। 

आपको बता दें कि हर साल 21 अक्टूबर को स्मृति दिवस का आयोजन होता है। इसमें 1959 को चीन हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 10 जवानों की याद में स्मृति परेड निकाली जाती है। 

इस मौके पर सीएम योगी ने लोगों को संबोधित भी किया। शहीद पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि शहीद जवानों ने प्रदेश सरकार का मान बढ़ाया है। सरकार उनके परिवार के लिए हमेशा खड़ी रहेगी। 

योगी ने और क्या कहा...

-पुलिस विभाग की सभी इकाईयों को मिलने वाला सराहनीय पदक की संख्या 200 से बढ़ाकर 950 किया है। 

- पुलिस विभाग ने 400 मृतक परिवारों को नौकरी दी गयी है। 

- UP 100 की परियोजनाओं को बेहतर बनाने के लिए पदों को बढ़ाया जा रहा है। 

- अपराध मुक्त, भय मुक्त प्रदेश बनाने के लिए पुलिस विभाग को छूट दी गयी। 

- प्रदेश की कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए अभी बहुत कुछ करना बाकी है।

- प्रदेश में त्यौहारों पर बेहतर सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करायी है। 

- सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए कटिबध्द है। 

- प्रदेश में पुलिस की मित्र छवि बनाने की कोशिश की जा रही है। 

- पुलिस विभाग द्वारा अपराधियों से 545 मुठभेड़ हुई है। 

- पुलिस मुठभेड़ ने 22 इनामी अपराधी मारे गये है। 

- प्रदेश में आतंकवादी संगठन कानून व्यवस्था को प्रभावित करते है। 

- तकनीक के साइबर अपराधी प्रदेश में काफ़ी बढ़े है। 

- STF और ATS का प्रदेश में सराहनीय योगदान दिया है। 

- पुलिस के बहादुर जवानों को धनराधि को दुगना करता हूं। 

- पुलिस विभाग के भत्तों को बढ़ाने का फैसला लेता हूं। 

- पुलिस विभाग में शहीद होने वाले जवानों को दुगना राशि।

- शहीदों को मिलने वाली धनराधि 20 लाख से बढ़कर 40 लाख हुई।