CM योगी का बड़ा बयान- शहीद हुए जवानों के परिवार में एक सदस्य को देंगे सरकारी नौकरी

लखनऊ (22 मार्च): उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वह शहीदों के परिजनों में एक सदस्य को सरकारी नौकरी देंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी मिल चुकी है।  नौकरी के साथ ही पूर्व निर्धारित सहायता भी मिलती रहेगी।

मंत्रिमंडल में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि सेना के तीनों अंगों और अद्र्धसैनिक बलों में कार्यरत अधिकारियों या जवानों के शहीद होने पर उनके परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाएगी।

सके लिए शहीद का उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना जरुरी होगा।  शर्मा ने बताया कि प्रस्ताव के अनुसार अन्तर्राष्ट्रीय युद्ध, आतंकवादी घटनाओं, प्राकृतिक आपदाओं या नक्सलवादी घटनाओं में शहीद होने वाले जवानों के परिजनों को यह सुविधा उपलब्ध होगी। इसके लिए नौकरी पाने का इच्छुक परिवार के सदस्य की उम्र 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। यह व्यवस्था एक अप्रैल 2017 से लागू कर दी गई है अर्थात एक अप्रैल 2017 के बाद शहीद हुए जवानों के परिजनों को सरकारी नौकरी मिलेगी।