पर्यटन सेक्टर में पूंजी निवेश के प्रोत्साहन के लिए विशेष प्रयास किए जाएं: सीएम योगी

नई दिल्ली ( 21 अप्रैल ): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी की सत्ता संभालने के बाद ताबड़तोड़ फैसले ले रहे हैं। इसी के तहत सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश के पर्यटन सेक्टर में पूंजी निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष प्रयास किए जाए। पर्यटकों को बेहतर सुविधा एवं सहयोग प्रदान करने के लिए 200 महिला पर्यटन पुलिस सहित कुल 500 पर्यटन पुलिस की व्यवस्था के लिए व्यापक प्रस्ताव तत्काल प्रस्तुत किया जाए।

सीएम ने कहा कि प्रदेश के मुख्य पर्यटन स्थलों-लखनऊ, मथुरा, वृंदावन, अयोध्या, प्रयाग, विन्ध्याचल, नैमिषारण्य, चित्रकूट, कुशीनगर और वाराणसी आदि के साथ प्रदेश के अन्य महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों को हेलिकाॅप्टर, वायुसेवा शुरू कराने के लिए आवश्यक कार्यवाहियां प्राथमिकता से सुनिश्चित कि‍या जाए।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि चिकित्सा एवं योग के माध्यम से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए गोरखपुर और वाराणसी में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कराने के लिए व्यापक कार्य योजना जल्द से जल्द पूरा किया जाए।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार की रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के अन्तर्गत आगरा-लखनऊ-वाराणसी और लखनऊ-इलाहाबाद-गोरखपुर को सम्मिलित कर सस्ती वायुसेवा शुरू होगी। साथ ही सीएम ने कहा कि आर्थिक राजधानी मुम्बई में जुलाई महीने के प्रथम सप्ताह में रोड शो और फूड फेस्टिवल का आयोजन कराए जाने के ल‍िए व्यापक कार्य योजना जल्द शुरू होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटकों की सुविधा के लिए 08 भाषाओं-जर्मन, फ्रेंच, जापानी, कोरियन, स्पेनिश, मेन्डरिन, अंग्रेजी एवं हिन्दी में वन-स्टाॅप ट्रैवेल सोल्यूशन पोर्टल तैयार कराया जाए।

पर्यटन के क्षेत्र में हर साल 4 हजार करोड़ के पूंजी निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार किया जाए और सभी तीर्थ स्थलों के 4 लेन मार्ग के साथ जोड़ने की व्यापक कार्य योजना बुन्देलखंड में आने वाले पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे को बुन्देलखण्ड से जोड़ने के भी निर्देश दिए गए।