CM शिवराज बने शिक्षक, छात्रों को दी ये नसीहत

भोपाल (26 अगस्त): मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज नए रूप में नजर आए। मध्यप्रदेश के स्कूलों में आज 'मिल बांचें' नाम के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस मौके पर शिवराज सिंह भोपाल में एक मिडिल स्कूल पहुंचे और छात्रों को नैतिकता का पाठ पढ़ाया। इस दौरान शिवराज सिंह ने बच्चों को तोते और बहेलिए की कहानी सुनाई और लालच से बचने की सीख दी। मुख्यमंत्री ने बच्चों को महाभारत की कहानी भी सुनाई और हमेशा सच बोलने और माता-पिता का आदर करने की भी नसीहत दी। 

इस दौरान उन्होंने बच्चों से किताब पढ़वाई और गणित के सवाल भी पूछे। इस मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों को डरा धमकाकर नहीं पढ़ाया जा सकता। बच्चे ईश्वर का सबसे अनमोल उपहार हैं। बच्चों के साथ बैठकर उन्हें प्यार से सिखाएं और समझाएं।

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में आज 'मिल बांचें' नाम के कार्यक्रम का आयोजन किया गया इसमें मंत्री, विधायक, अधिकारी सहित 2 लाख 15 हजार 220 वॉलेंटियरों ने बच्चों को पढ़ाया। इनमें 10 पद्मश्री उपाधि से सम्मानित समाजसेवी, ख्यातिप्राप्त पूर्व ओलंपियन, साहित्यकार और पर्वतारोही शामिल हैं।