गुजरात सेक्स रैकेट मामला, सीएम ने न्यायिक जांच के दिए आदेश

अहमदाबाद(22 फरवरी): गुजरात के सीएम विजय रुपानी ने कच्छ सैक्स रैकेट की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। विधानसभा सत्र के कार्यवाही के दौरान विजय रुपानी ने इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार मामले की न्यायिक जांच के लिए राजी है।  

क्या है पूरा मामला

गुजरात में एक महिला ने भाजपा नेता सहित 10 लोगों पर साल भर तक कई बार रेप करने और सेक्‍स रैकेट चलाने का आरोप लगाया।

राज्‍य के कच्‍छ जिले के नलिया कस्‍बे में 25 जनवरी को इस संबंध में एफआईआर दर्ज की गई। पीडि़ता ने एफआईआर में भाजपा नेता शांतिलाल सोलंकी, गोविंद परुमलानी, अजीत रमवानी और वसंत भानुशाली के साथ ही कुछ स्‍थानीय कारोबारियों पर आरोप लगाए हैं। इसमें बताया गया है कि आरोपियों ने कारों में और भाजपा नेताओं के घरों में रेप किया। आरोपियों ने उसकी फोटो भी ले ली और वीडियो बना लिए। इसके जरिए उन्‍होंने उसे ब्‍लैकमेल भी किया।

जानकारी के अनुसार, अगस्‍त 2015 में पीडि़ता नौकरी की तलाश में नलिया आई थी। यहां पर उसकी पहचान भाजपा नेता शांतिलाल सोलंकी से हुई। सोलंकी ने अपनी गैस एजेंसी में लड़की को क्‍लर्क के रूप में नौकरी दे दी। लेकिन जब वह एडवांस सैलेरी लेने गई तो कथित तौर पर उसकी कोल्‍ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिला दिया गया और सोलंकी सहित तीन लोगों ने उससे रेप किया। पीडि़ता ने आरोप लगाया कि आरोपी इलाके में सेक्‍स रैकेट भी चलाते है। उन्‍होंने नौकरी का लालच देकर कई महिलाओं को इसमें धकेला है। महिलाओं को भाजपा की सभाओं में भेजा जाता था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पीडि़ता ने 35 महिलाओं के नाम बताएं जिन्‍हें भाजपा के कार्यक्रमों या सभाओं में जाने के लिए आई कार्ड जारी किए गए थे। मामले के सामने आने के बाद भाजपा ने चार नेताओं को सस्‍पेंड कर दिया है।