बंदूक नहीं, बातचीत से हल हो सकता है नक्सल समस्या- भूपेश बघेल


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 दिसंबर): देश की आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था के लिए नासूर बन चुके नक्सलियों को लेकर छत्तीसगढ़ ने नए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि नक्सल समस्या का समाधान बुलेट से नहीं बातचीत से ही संभव है। उन्होंने कहा है कि यह एक सामाजिक,आर्थिक और राजनीतिक समस्या है और इससे इसी तरह से ही निपटा जाना चाहिए। साथ ही मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि पिछली सरकार ने बंदूकों के जरिए नक्सल समस्या को हल करने की कोशिश की, जो उचित तरीका नहीं था।


सीएम बघेल ने कहा कि नक्सल एक सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक समस्या है और इससे इसी तरह से निपटा जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी सरकार उन लोगों और जनजातियों के साथ बातचीत करेगी जो इस समस्या के कारण सबसे अधिक प्रभावित हैं। जो माओवादियों और सुरक्षा कर्मियों के बीच लड़ाई में पीड़ित हैं। सबसे पहले इन लोगों से बात करनी होगी और उन्हें विश्वास में लेना होगा और इसके मुताबिक ही इस समस्या से निपटने के लिए नीति तैयार की जाएगी।

साथ ही छत्तसीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासी मारे जा रहे हैं। सैनिक शहीद हो रहे हैं। हमने अपने पत्रकारों को भी खोया है। पिछले 15 सालों में रमन सिंह सरकार में हमने अपने राजनेताओं को भी खोया है। लगे हाथों उन्होंने कहा कि उनकी नीति है कि बंदूकों का उपयोग करके इस समस्या को हल किया जा सकता है। लेकिन अब इस समस्या का समाधान क्या है? उन्होंने कहा कि हमें उन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से बात करने की आवश्यकता है। साथ ही कहा कि उन क्षेत्रों में लड़ने वाले पत्रकारों, बुद्धिजीवियों और सैनिकों से भी बात करने की जरूरत है। इन सभी लोगों से चर्चा करने के बाद हमें इसका समाधान ढूंढना होगा।