ये सिर्फ उत्तर प्रदेश नहीं देश का है चुनाव- अखिलेश यादव

लखीमपुर (25 जनवरी): उत्तर प्रदेश में चुनाव में अब महज कुछ दिन बचे हैं। लिहाजा तमाम पार्टियों के आला नेता शिद्दत से चुनाव प्रचार में जुटे हैं। इसी कड़ी में आज समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखीमपुर में कई चुनावी सभाएं की। यहां एक रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि ये चुनाव सिर्फ यूपी का चुनाव नहीं बल्कि देश का चुनाव है।

रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार पर भी जमकर निशाना साधा। नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि लाइन में लगने वालों में कईयों की जान चली गई। समाजवादियों ने इनकी मदद की। उन्हें मुआवजा दिया। अच्छे दिन वालों ने कुछ भी नहीं किया।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार गरीबों की मदद करती है। हमारे घोषणा पत्र में बड़े काम भी हैं। साथ ही साथ गरीबों के लिए भी घोषणा पत्र में बहुत कुछ है। सपा-कांग्रेस गठबंधन पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि साथ लड़ेंगे और सरकार यूपी में बनाएंगे। हाथ से अगर हैंडल ठीक ठाक चलेगा तो सोचो साइकिल कितनी तेज चलेगी।

उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी और बसपा के लोग कहते हैं कि सपा सरकार में कानून व्यवस्था खराब है, लेकिन पत्थर वाली सरकार के काम को कोई भी नहीं भूला है। उनके राज में ही सीएमओ का मामला हुआ था। उन्होंने कहा कि हमने देश की सबसे बढि़या कंपनी के लैपटॉप बांटे। समाजवादी पेंशन से भी लाखों महिलाओं को फायदा हुआ है। यूपी में पुलिस सेवा भी बेहतर करने का काम समाजवादियों ने किया है। अब अवैध वसूली करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के दौरान एक गर्भवती महिला ने बच्चे को बैंक में ही जन्म दिया था। लोगों ने उसका नाम खजांची रख दिया था। हमने जब देखा तो उसे बुलाकर आर्थिक मदद की। अखिलेश यादव ने अपने भाषण के दौरान केंद्र सरकार पर भी कई तंज किए।

यूपी सीएम ने कहा कि जब केंद्र सरकार बनी थी तो हमें भी काफी उम्मीद थी कि अब देश और यूपी में अच्छे दिन आ जाएंगे। लेकिन अच्छे दिन नहीं आए। अब तो इतने ज्यादा बुरे दिन आ गए हैं कि अपना ही पैसा लेने के लिए लोगों को बैंकों की लाइन में लगना पड़ रहा है। बीजेपी के इस कदम ने देश को पीछे धकेल दिया है।