क्रिकेट पर भी बदलते मौसम की मार, तेजी से बदतर हो रहे हालात: रिपोर्ट

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(10 सितंबर): दुनियाभर में बदलते मौसम का प्रभाव क्रिकेट के खेल पर भी पड़ा है। इसके चलते भारत में भी क्रिकेट खेलना काफी मुश्किल हुआ है। किसी भी देश की तुलना में भारत में क्रिकेट प्रशंसकों की तादाद बहुत ज्यादा है। स्पोर्ट्स रिसर्चर्स एंड एनवायरनमेंट एकडेमिक्स की रिपोर्ट के अनुसार, सूखे, गर्म हवाओं और तूफान ने भारत में इस खेल के लिए मुश्किल हालात पैदा कर दिए हैं। रिपोर्ट में योगदान देने वाले लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान के अधिकारी रसेल सेमॉर के अनुसार, यह न केवल क्रिकेट बल्कि सभी खेलों के लिए खतरे की घंटी है। 

बल्लेबाजों और विकेटकीपर के लिए मुश्किल स्थिति

पोर्ट्समाउथ यूनिवर्सिटी में शरीर विज्ञान के प्रफेसर और इस शोध के लेखकों में शामिल माइक टिपटोन ने कहा, '35 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा तापमान होने पर शरीर खुद को ठंडा करना बंद कर देता है। बल्लेबाजों और विकेटकीपर के लिए यह मुश्किल स्थिति होती है। बचाव उपकरण के कारण पसीना निकलने का भी असर सीमित हो जाता है।'

भारत और ऑस्ट्रेलिया में पड़ रही मौसम की मार 

रिपोर्ट 'हिट फॉर सिक्स' में बताया गया है कि भारत  और ऑस्ट्रेलिया जैसे क्रिकेट खेलने वाले देश मौसम में आए बदलाव के चलते काफी प्रभावित हुए हैं। इसमें ये भी बताया गया है कि मौसम में आए बदलाव खासकर अत्यधिक गर्मी के चलते बल्लेबाजों और विकेटकीपरों के प्रदर्शन में गिरावट देखने को मिली है। सेमॉर के अनुसार, हमें मौसम में बदलाव के इन हालात से ‌निपटने के लिए अभी से उपाय करने चाहिए वर्ना हालात और बदतर हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि ये बात खिलाड़ियों की तो है ही, इसके साथ ही आम लोगों को भी मौसम के इन बदलावों से काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

हीट रूल लागू करने का सुझाव

रिपोर्ट में मौसम में आए बदलावों को देखते हुए क्रिकेट में हीट रूल लागू करने का सुझाव भी दिया गया है। इसमें क्रिकेट मैचों के दिन में बदलाव का नियम भी शामिल है। इसके अलावा तेज गर्मी से बचने के लिए क्रिकेटरों को अतिरिक्त हवा मुहैया कराने के इंतजाम का सुझाव भी दिया गया है। ऑस्ट्रेलिया ने अपने युवा खिलाड़ियों के लिए गर्मी को लेकर दिशा-निर्देश तय किए हैं। इनमें कहा गया है कि खिलाड़ियों को शॉर्ट्स पहनकर खेलना चाहिए। उनके बचाव उपकरणों, हेलमेट आदि में हवा का समुचित प्रवाह होना चाहिए।

प्रभावित हो चुके हैं मैच

मौसम में आए बदलाव के चलते कई देशों में मैचों पर इसका असर देखने को मिल चुका है। रिपोर्ट के अनुसार, हालिया समय में गर्मी के चलते ऑस्ट्रेलिया, पानी की कमी के चलते दक्षिण अफ्रीका और बाढ़ के चलते इंग्लैंड में कई मैच प्रभावित हुए हैं।

खेलने की क्षमता होती है प्रभावित

तेज गर्मी होने, गर्म हवा के चलते खिलाड़ियों पर कई तरह के घातक प्रभाव हो सकते हैं। उनकी खेलने की क्षमता प्रभावित होती है। यदि 40 डिग्री तापमान में वे क्रिकेट खेलते हैं तो गर्मी से दबाव और हीट स्ट्रोक जैसे खतरे भी हो सकते हैं। खिलाड़ियों के दिल पर भी बुरा असर पड़ने की आशंका रहती है।