2018 से लौट आएगा CBSE 10वीं का बोर्ड एग्जाम

नई दिल्ली(21 अक्टूबर): सीबीएसई के 10वीं कक्षा के छात्रों के लिए सरकार बोर्ड एग्जाम फिर से शुरू करने की तैयारी में है। 2018 से 10वीं क्लास के लिए बोर्ड एग्जाम फिर से शुरू होने की संभावना है।

- मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर 25 अक्टूबर को इस संबंध में घोषणा कर सकते हैं। इस साल जुलाई में मानव संसाधन विकास मंत्रालय का प्रभार संभालने के बाद जावडेकर का यह पहला बड़ा फैसला होगा। 

- जावडेकर एक नई 'नो डिटेंशन' पॉलिसी की भी घोषणा करेंगे, जिसमें छात्रों को पांचवीं क्लास तक फेल नहीं किया जाएगा। उसके बाद राज्यों को आठवीं क्लास तक छात्रों को फेल नहीं करने का विकल्प खोजना होगा लेकिन फेल होने वाले छात्रों के लिए 'फिर से परीक्षा' के लिए अवसर प्रदान करना अनिवार्य होगा।

- सीबीएसई में 10वीं क्लास की बोर्ड परीक्षा को 2010 में खत्म कर दिया गया था और उसकी जगह मौजूदा सीसीई सिस्टम अपनाया गया था। इस सिस्टम में साल भर छात्रों का टेस्ट होता है और उनकी ग्रेडिंग की जाती है। इसका मकसद छात्रों पर दबाव को खत्म करना था।

- हालांकि बोर्ड परीक्षा खत्म करने से बीच में पढ़ाई छोड़ने वाले छात्रों की संख्या में गिरावट आई है, लेकिन राज्यों और पैरंट्स एवं शिक्षकों के प्रतिनिधि संगठनों से मिले फीड बैक के मुताबिक बोर्ड एग्जाम खत्म करने और फेल नहीं करने की पॉलिसी लागू करने से शैक्षिक स्तर में गिरावट आई है। इसी को आधार बनाते हुए 10वीं क्लास के लिए फिर से बोर्ड परीक्षा शुरू करने का निर्णय लिया गया है।