हवाई किराया होगा सस्‍ता, एटीएफ को जीएसटी में लाने का होगा प्रस्‍ताव

नई दिल्ली (18 मई): आने वाले दिनों में अगर ट्रेन का किराया हवाई जहाज से महंगा हो तो इसमें चौंकने वाली कोई बात नहीं होगी, क्योंकि नागर विमानन मंत्रालय विमान ईंधन एटीएफ को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत लाने के लिए जीएसटी परिषद से संपर्क करेगा।नागर विमानन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा से मुलाकात के बाद एक एयरलाइन के वरिष्ठ अधिकारी ने आज यह संकेत दिया। इस बैठक में एयर इंडिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक प्रदीप सिंह खारोला, पवन हंस के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक बीपी शर्मा, निजी एयरलाइन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और अन्य विमानन कंपनियों के मुख्य वित्त अधिकारी शामिल हुए थे।अभी एटीएफ जीएसटी के दायरे में नहीं आता और विभिन्न राज्यों में इस पर शुल्क दरें भिन्न-भिन्न हैं। किसी एयरलाइन की परिचालन लागत में जेट ईंधन का उल्लेखनीय हिस्सा होता है। इससे टिकट का मूल्य भी प्रभावित होता है।