सुदर्शन पटनायक ने समंदर किनारे रेत से 1000 सैंटा क्लॉज बनाकर बनाया विश्व रिकाॅर्ड


नई दिल्ली ( 25 दिसंबर ): अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मशहूर इंडियन सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने क्रिसमस के मौके पर पुरी के समुद्र तट पर रेत से 1 हजार सैंटा क्लॉज की मूर्तियां बनाकर इतिहास रच दिया है। इसको लेकर उनका नाम लिम्का बुक आॅफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हो गया है।

पटनायक के मुताबिक, लिम्का बुक आॅफ रिकॉर्ड्स के वरिष्ठ एडिटर आर्थी मुथन्न सिंध ने एक ई-मेल के जरिए सुदर्शन को धन्यवाद दिया और उनकी इस रचना का विश्व रिकॉर्ड बनने की भी पुष्टि की। इससे पहले भी यह रिकॉर्ड सुदर्शन के ही नाम था, जब उन्होंने रेत पर 500 सांता क्लॉज बनाए थे।

पटनायक ने कहा कि पुरी में सैंटा का त्योहार (क्रिसमस) कल शाम को शुरू हुआ और यह एक जनवरी तक जारी रहेगा। सुदर्शन ने सैंटा क्लॉज की रेत की 1,000 मूर्तियां बनाकर वर्ष 2012 के अपने ही लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स को तोड़ दिया है। उसमें उन्होंने सैंटा क्लॉज की रेत की 500 मूर्तियां बनाकर रिकॉर्ड बनाया था। सुदर्शन ने कहा कि उन्हें और उनके सैंड आर्ट स्कूल के 35 छात्रों की टीम को इसे बनाने में चार दिन का समय लगा और इसमें करीब 1,000 टन रेत का इस्तेमाल हुआ।