गुजरात: स्कूल की किताब में ईसामसीह को बताया हैवान

अहमदाबाद (22 जून): गुजरात में हिंदी की किताबों में ईसामसीह के लिए हैवान शब्द का प्रयोग करने पर बवाल मच गया है। गुजरात स्टेट स्कूल टेक्स्ट बुक बोर्ड (GSSTB) की तरफ से यह गलती नौवीं कक्षा की हिंदी की किताबों में हुई।

अब गुजरात के ईसाई समुदाय के लोगों ने जीएसएसटीबी को धमकी दी है कि अगर तत्काल प्रभाव से इस विवादित सामग्री को नहीं हटाया गया तो राज्य भर में ईसाई समुदाय प्रदर्शन और विरोध करेगा। गुजरात यूनाइटेड क्रिश्चयन फोरम फॉर ह्यूमन राइट्स (GUCFHR) 6 सदस्यों की एक टीम ने जीएसएसटीबी के कार्यकारी प्रेजिडेंट निचिन पेठानी से मुलाकात की। इस दल का नेतृत्व आर्चबिशप थॉमस मैकवॉन ने किया। इस दल ने पेठानी से क्रिश्चयन बॉडी में 3 प्रतिनिधियों के होने के बाद भी अब तक जीएसएसटीबी ने ऐक्शन नहीं लिया और न ही गलती के लिए सार्वजनिक माफी मांगी गई।

पेठानी कहा, 'शिक्षण-परीक्षण मैगजीन के अगले अंक में इस गलती के लिए खेद प्रकाशित कर दिया जाएगा। हमने जीयूसीएफजीएचआर को वह रिपोर्ट भी दिखाई है जिसमें प्रकाशित सामग्री में 'हैवान' शब्द के स्थान पर भगवान शब्द का ही प्रयोग किया जाएगा। फिलहाल डीटीपी एक्पर्ट को हटा दिया गया है।'