त्रिपुरा में 98 ईसाइयों ने फिर अपनाया हिंदू धर्म

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जनवरी): कुछ समय पहले हिंदू धर्म से ईसाई बनने वाले त्रिपुरा के 23 आदिवासी परिवारों के 98 लोगों ने एक बार फिर हिंदू धर्म अपना लिया है। इस बात की जानकारी हिंदू जागरण मंच ने दी। हिंदू जागरण मंच की त्रिपुरा इकाई के अध्यक्ष उत्तम डे ने बताया कि इन लोगों ने 2010 में ईसाई धर्म को अपना लिया था। इनमें अधिकतर लोग बिहार और झारखंड के हैं, जो चाय बागान में काम करते हैं।

हिंदू जागरण मंच की त्रिपुरा यूनिट के अध्यक्ष कहा कि ये परिवार के लापता हुए सदस्यों की घर वापसी जैसा है। वे सभी हिंदू थे, लेकिन प्रलोभन देकर उन्हें ईसाई बनाया गया।  उनाकोटी जिले के सोनामुखी चाय बागान में ये सभी काम करते थे। बागान के बंद होने के बाद इन्हें लालच दिया गया, उन्होंने कहा कि अधिकतर लोग उरांव और मुंडा समुदाय के हैं।

अगरतला से 180 किलोमीटर दूर कालियाशहर जिले में रविवार को धर्म परिवर्तन कार्यक्रम से विश्व हिंदू परिषद भी जुड़ी हुई थी। धर्म परिवर्तन करने वाले एक शख्स बिरसा मुंडा ने दावा किया कि उन्हें ईसाई धर्म अपनाने के लिए प्रलोभन दिया गया था, लेकिन उसके बाद उनके साथ बुरा बर्ताव हुआ जिससे उन्होंने धर्म बदलने का विचार किया। उन्होंने कहा, ‘हम बहुत गरीब लोग हैं, ईसाइयों ने हमारा धर्म परिवर्तन कराया। हमने अपनी इच्छा से फिर से हिंदू धर्म अपनाया है।'