भारत में हुआ चाइनीज़ प्रोडक्ट्स का बहिष्कार तो आपस में भिड़े चीनी थिंक टैंक

नई दिल्ली (30 अक्टूबर): पाकिस्तान का समर्थन करने पर चीनी प्रोडक्ट्स के बहिष्कार के मुद्दे पर चीनी मीडिया और थिंकटैंक में महाभारत छिड़ गया है। चीन के एक सरकारी अखबार ने भारत में चीनी प्रोडक्ट्स के बहिष्कार पर निवश रोक देने की धमकी दी थी। वहीं दूसरे अखबार ग्लोबल टाइम्स ने ठीक इसके विपरीत कहा है कि अगर चीन भारत में निवेश से पीछे हटता है तो यह उसकी वेबकूफी होगी।

 भारत के विनिर्माण क्षेत्र की तेज रफ्तार में निवेश करके चीनी निवेशक मोटा मुनाफा कमा सकते हैं। अगर चीन सरकार वहां से दूर रहने का फैसला करती है तो निश्चित रूप से एक ‘अविवेकपूर्ण’ फैसला होगा। चीन के सरकारी मीडिया का कहना है कि भारत की अर्थव्यवस्था में चीन का योगदान बेहद कम है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल स्ट्रैटेजी ऑफ चाइनीज अकादमी ऑफ सोशल साइंसेज के रिसर्च फेलो जी चेंग ने कहा है कि चीन के पास भारत के विनिर्माण विकास को सीमित करने की क्षमता नहीं है।