चीन ने बढ़ाई भारत की टेंशन, बढ़ाया पनडुब्बी और युद्धपोतों का मूवमेंट

नई दिल्ली (2 दिसंबर): चालबाज चीन ने हिंद महासागर में भारत की टेंशन बढ़ा दी है। हिंद महासागर क्षेत्र में चीनी पनडुब्बियों और युद्धपोतों के मूवमेंट बढ़ गई है। हालांकि भारतीय जल सेना की चीन की इस मूवमेंट पर बारीक नजर है।

नेवी चीफ सुनील लांबा के मुताबिक हिंद महासागर क्षेत्र में चीनी परमाणु पनडुब्बियां की तैनाती की गई थीं और ये कराची में रुकी थीं। उन्होंने कहा कि भारतीय नौसेना इस गतिविधि पर बारीकी से नजर बनाए हुए है।

नेवी चीफ के मुताबिक 'हमने उनपर नजर रखने के लिए एयरक्राफ्ट और शिप की मदद से निगरानी अभियान लॉन्च किया है। उन्होंने 2012 से ही इस इलाके में पनडुब्बियों की तैनाती शुरू की है।' नेवी चीफ ने पाकिस्तान के उस दावे को भी खारिज किया जिसमें उसके इलाके में भारतीय पनडुब्बी के जाने की बात कही गई थी।

लांबा ने कहा कि जिस इलाके में भारतीय पनडुब्बी के होने का दावा किया जा रहा था वहां ऐसा कुछ नहीं था। साथ ही उन्होंने कहा कि हम केवल वहीं पनडुब्बियों की तैनाती करते हैं जहां इसकी जरूरत होती है और हम ऐसा करते रहेंगे।

पाकिस्तानी नेवी ने पिछले महीने दावा किया था कि एक भारतीय पनडुब्बी उसके इलाके में देखी गई है। लांबा ने कहा कि भारतीय नौसेना के पास किसी भी तरह की कार्रवाई करने की पूरी क्षमता है और यह अधिकार क्षेत्र में भी आता है।

चीन से बांग्लादेश नेवी को मिली पहली पनडुब्बी पर भी नेवी चीफ ने टिप्पणी की। नेवी चीफ लांबा ने कहा कि देश के पड़ोस में जो कुछ हो रहा है उसे लेकर हमारे पास योजना तैयार है।