बलूचिस्तान पर PM मोदी के बयान से चीन में हड़कंप

नई दिल्ली (28 अगस्त): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल ही में बलूचिस्तान को लेकर बयान ने चीनी विद्वानों को ''काफी परेशान" कर दिया है। रविवार को दक्षिण एशिया मामलों के एक चीनी एक्सपर्ट ने यह दावा किया। 

- एक्सपर्ट हू शिशेंग ने कहा कि अगर "इंडियन फैक्टर" 3088.44 अरब रुपए के चाइना-पाकिस्तान इकॉनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) में अवरोध पैदा करता है, तो ये दोनों देश मिलकर साझा कदम उठा सकते हैं। यह क्षेत्र इसका हब बना हुआ है।

- एक्सपर्ट हू सरकारी थिंकटैंक इंस्टीट्यूट ऑफ साउथ एंड साउथ ईस्ट एशियन एंड ओशिएनिक स्टडीज़ के डायरेक्टर हैं। जो चाइना इंस्टीट्यूट ऑफ कंटेंपररी इंटरनेशनल रिलेशन्स का हिस्सा है और चीनी विदेश मंत्रालय से संबद्ध है। 

- हू ने कहा कि मेरे निजी विचार में अगर भारत अटल रहता है, साथ ही चीन और पाकिस्तान को इंडियन फैक्टर CPEC की प्रोसेस में रुकावट पैदा करता हुआ दिखता है। अगर ये सच साबित होता है, तो ये चीन-भारत के रिश्तों, और भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में परेशानी पैदा करेगा।

- हू ने कहा अगर ऐसा हुआ, तो चीन और पाकिस्तान के पास कोई और रास्ता नहीं होगा, सिवाय साझा कदम उठाने के।