अब चीन की गुलामी करेगी पाकिस्तानी फौज, ग्वादर में तैनात होगा ड्रैगन का जंगी पोत

नई दिल्ली (25 नवंबर):  चाइना पाक इकोनॉमिक कॉरि़डोर पर 51 बिलियन डॉलर खर्च करने वाले चीन ने ग्वादर पोर्ट पर कब्जे की कार्रवाई शुरु कर दी है। भारत को नीचा दिखाने की मंशा रखने वाले पाकिस्तानी फिलहाल इस बात से खुश हो रहे हैं कि ग्वादर पोर्ट पर चाइनीज़ नैवी का जंगी जहाज आने से वो भारतीय जल सेना पर नकेल कस देंगे। लेकिन उन्हें इस बात का अहसास जब होगा जब चीन की मौजूदगी पाकिस्तान की आतंरिक सुरक्षा और गोपनीयता के लिए खतरा बन जायेगा। दरअसल, चीन एक तीर से दो निशाने लगा रहा है।

पहला तो यह है कि ग्वादर पोर्ट में उसका जंगी जहाज पहुंचने से चीन की जल सेना की पहुंच अरब सागर और हिंद महासागर दोनों में हो गयी। दूसरा यह है कि चीन को पाकिस्तानियों पर कतई भरोसा नहीं है। खासकर अपने लोगों और संपत्ति की सुरक्षा को लेकर चीन कोई जोखिम नहीं लेना चाहता। इसलिए अगर कभी ग्वादर पोर्ट और आस-पास रहने वाले चीनी नागरिकों पर कोई संकट आता है तो चीनी सुरक्षा बल उनकी मदद के लिए वहां पहले से मौजूद होंगे।

इस क्षेत्र की रणनीतिक गतिविधियों पर नज़र रखने वालों का कहना है कि ग्वादर पोर्ट पर चीनी जंगी जहाज की मौजूदगी से भारत खतरा कम खुद पाकिस्तान को ज्यादा खतरा हो सकता है। चालाक चीन अपने जंगी जहाज की मौजूदगी से पाकिस्तान की मुश्कें बांध रहा है।