चीन पहुंचे किम का जिनपिंग ने किया स्वागत, तानाशाह बोला- परमाणु प्रसार रोकने के लिए प्रतिबद्ध

नई दिल्ली ( 28 मार्च ): उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन रविवार से बुधवार तक चीन के दौरे पर पहुंचे हैं। तानाशाह किम अपनी पत्नी री सोल जू के साथ चीन पहुंचा है। चीन की सरकारी शिन्हुआ न्यूज एजेंसी ने किम के चीन में होने की पुष्टि की है। एजेंसी ने तानाशाह किम और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात की तस्वीर भी जारी की है। 

एजेंसी के मुताबिक किम ने परमाणु प्रसार को रोकने का संकल्प लिया है। इसके बदले में चीन ने उत्तर कोरिया के साथ संबंध मजबूत करने का वादा किया। 2011 में सत्ता में आने के बाद यह उनका पहला विदेश दौरा बताया जा रहा है। इसे अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच होने वाली वार्ता की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है।

इस मुलाकात के बाद तानाशाह किम ने कहा कि उत्तर कोरिया संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ बातचीत करने और दोनों देशों के बीच एक शिखर सम्मेलन के लिए तैयार है। मुलाकात के दौरान तानाशाह ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को उत्तर कोरिया आने का निमंत्रण दिया। जिसे शी ने स्वीकार कर लिया। 

जापानी मीडिया ने सोमवार को खबर दी थी कि उत्तर कोरिया का एक उच्च अधिकारी ट्रेन से चीन पहुंचा है। यह अधिकारी और कोई नहीं बल्कि खुद प्योंगयांग के नेता किम जोंग-उन थे। 

शिन्हुआ के मुताबिक किम ने कहा, 'दिवंगत राष्ट्रपति किम I सुंग और जनरल सेक्रटरी किम जोंग की इच्छा के अनुसार हम प्रायद्वीप में परमाणु प्रसार पर लगाम लगाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।' उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया अमेरिका से वार्ता करना चाहता है। इससे शांति और स्थिरता बनाए रखने में मदद मिलेगी। 

इसके बाद शी ने किम से कहा कि हमारी पारंपरिक मित्रता आगे बढ़नी चाहिए और विकसित होनी चाहिए। उन्होंने कहा, 'हमारी रणनीतिक इच्छा है कि दोनो देशों के संबंध मजबूत हों।'