बिजनेस के मुद्दे पर चीनी मीडिया ने की भारत की जमकर तारीफ


नई दिल्ली ( 4 अगस्त ): सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम में भारत और चीन की सेना आमने सामने हैं। इस मुद्दे पर लगातार युद्ध की धमकी देने वाली चीनी मीडिया में कुछ नरमी आई है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपे आर्टिकल में भारतीय अर्थव्यवस्था और बिजनस के लिहाज से यहां की स्थितियों की तारीफ की गई है। इतना ही नहीं, आर्टिकल में चीनी कंपनियों को आगाह किया गया है कि भारत को एक पिछड़े देश के तौर पर देखने की रुढ़िवादी मानसिकता त्याग दें।

आर्टिकल में कहा गया है कि चीन के लोगों को भारत के आर्थिक विकास के बारे में सिर्फ मीडिया रिपोर्ट्स के जरिए जानकारी मिलती है जिससे उस देश के बारे में सीमित समझ ही बन पाती है। आर्टिकल में लिखा गया है, 'चीन के तमाम लोग समझते हैं कि भारत एक बहुत ज्यादा आबादी वाला गरीब देश है जहां विविध संस्कृतियां हैं। जहां बार-बार बिजली कटती है और जहां का इंडस्ट्रियल बेस कमजोर है व चीन के मुकाबले बहुत ज्यादा निम्न स्तर का है। यह तस्वीर कुछ हद तक सही भी है लेकिन यह सिर्फ एक आंशिक तस्वीर है।'

आर्टिकल के मुताबिक चीन के लोग भारत के अमीरों की तादाद के बारे में जो सोचते हैं, वह उससे कहीं ज्यादा है। 2017 में प्रकाशित दुनिया के सबसे अमीर लोगों की हुरुन रिपोर्ट का हवाला देते हुए आर्टिकल में लिखा गया है कि भारत में 100 अरबपति हैं जो सुपररिच के मामले में किसी देश से दुनिया में चौथी बड़ी संख्या है।

आर्टिकल में चीनी कंपनियों को भारत में निवेश की योजना बनाने और उसे बेहतर ढंग से समझने की सलाह दी गई है। आर्टिकल में लिखा गया है, 'भारत में निवेश की योजना बना रही चीनी कंपनियों को मीडिया के जरिए जानने के अलावा कई और स्रोतों से भारत के बारे में बेहतर समझ बनाने की जरूरत है, जिससे निवेश संबंधी फैसले के लिए ज्यादा मुफीद जानकारी मिल सकेगी।'