चीन ने पहली बार किया ऐसा युद्धाभ्यास

नई दिल्ली(16 दिसंबर): चीन की सेना ने बोहाइ समुद्र में अपना पहला लाइव-फायर युद्धाभ्यास किया। सरकारी मीडिया के मुताबिक, कोरिया के नजदीक स्थित बोहाइ समुद्र में चीनी सेना ने विमान वाहकों और लड़ाकू विमानों के साथ सैन्य अभ्यास किया।

- दक्षिणी चीन सागर में चीन की सेना की बढ़ती मौजूदगी से अंतरराष्ट्रीय बिरादरी में चिंता का माहौल है। अमेरिका पहले ही समुद्रीय चौकियों का सैन्यीकरण करने को लेकर चीन की आलोचना कर चुका है। साथ ही, अमेरिका लगातार इस क्षेत्र में अपनी हवाई और समुद्रीय उपस्थिति दर्ज करा रहा है। चीन द्वारा इस क्षेत्र पर अपना विशेषाधिकार स्थापित करने के प्रयासों का कई देश विरोध कर चुके हैं।

- गुरुवार को चीन के स्टेट चैनल चाइनीज सेंट्रल टेलिविजन ने बताया कि 10 समुद्री जहाज और 1- विमान वाहक कोरिया की सीमा के नजदीक हवा से हवा, हवा से समुद्र और समुद्र से हवा में वार करने का अभ्यास कर रहे हैं। चैनल ने बताया, 'यह पहला मौका है जब एक विमान वाहक दस्ते ने असली गोलाबारूद और सेना के साथ इस तरह युद्ध अभ्यास किया है। '

- बुधवार को अमेरिका के एक थिंक टैंक ने कहा था कि चीन पिछले कुछ समय से दक्षिणी सागर क्षेत्र के अपने मानव-निर्मित द्वीपों पर ऐंटी-एयरक्राफ्ट और ऐंटी-मिसाइल सिस्टम को तैनात कर रहा है। इसके जवाब में चीन की ओर से कहा गया कि इस इलाके में अपना सैन्य ढांचा लगाने का उसे पूरा अधिकार है। बोहाइ सागर क्षेत्र पर किसी और देश ने दावा नहीं किया है।