डोकलाम पर बौखलाया चीन, अब कर रहा भारतीयों की बेइज्जती


नई दिल्ली (13 अगस्त): डोकलाम में पिछले दो महीने से जारी तनाव पर जहां चीनी सरकार और मीडिया भारत को युद्ध की धमकी दे रहा है वहीं अब चीनी नागरिक भी भारतीयों की बेइज्जती करने लगा है। शंघाई हवाईअड्डे पर एक चीनी एयरलाइन के कर्मचारियों द्वारा भारतीयों के साथ दुर्व्यवहार का मामला समाने आया है। जानकारी के मुताबिक भारतीय यात्री की शिकायत के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसे चीनी विदेश मंत्रालय के शंघाई विदेश मामलों के कार्यालय और पुदोंग हवाईअड्डा प्राधिकरण के समक्ष उठाया है। 

हालांकि चीन ने एकबार फिर अपनी गलती मानने से इनकार कर दिया है और पूरे मामले की लीपापोती करने में जुट गया है। पेइचिंग की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने शनिवार रात कहा कि चाइना ईस्टर्न एयरलाइंस ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि संबंधित सामग्री और हवाईअड्डे की CCTV फुटेज की जांच के बाद पाया गया कि घटना से जुड़ी खबरें तथ्यों के अनुरूप नहीं हैं। वहीं एयरलाइन ने अपने बयान में कहा है कि एयरलाइन के कर्मचारियों ने तो शानदार सेवा दी।

इससे पहले मीडिया में आई खबरों में कहा गया था कि नॉर्थ अमेरिकन पंजाबी असोसिएशन के कार्यकारी निदेशक सतनाम सिंह चहल ने सुषमा को लिखे पत्र में आरोप लगाया कि उन्होंने देखा कि विमान से व्हीलचेयर यात्रियों को निकालने के लिए बने निकास द्वार पर कर्मचारी (ग्राउंड स्टाफ) भारतीय यात्रियों का अपमान कर रहे थे। चहल ने छह अगस्त को नई दिल्ली से सैन फ्रांसिस्को जाने के लिए चाइना ईस्टर्न एयरलाइंस की फ्लाइट ली थी। उन्हें सैन फ्रांसिस्को जाने वाला विमान लेने के लिए शंघाई पुदोंग हवाईअड्डे पर रुकना पड़ा था। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने संबंधित एयरलाइन से शिकायत की तो अधिकारी उनपर चिल्लाने लगे।