चीन की अमेरिका को खुली चेतावनी, चीन और अमेरिका में बढ़ा तनाव

नई दिल्ली ( 25 जुलाई ): दक्षिणी व पूर्वी सागर क्षेत्र में अमेरिका और चीन के बीच लगातार तनाव बढ़ता जा रहा है। इस बीच चीन ने अमेरिका से कहा है कि वह 'गैरदोस्ताना खतरनाक' सैन्य गतिविधियों को रोक दे। चीन ने मंगलवार को इस बात से साफ इंकार किया उसके लड़ाकू विमान के पायलटों ने अंतरराष्ट्रीय वायु सीमा में अमेरिका के टोही विमानों के खिलाफ खतरनाक तरीके से विमान उड़ाया था जिसके कारण अमेरिकी पायलट को दिक्कत हुई थी। 

चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता रेन जियोक्येंग ने एक बयान जारी कर कहा कि दो J-10 लड़ाकू विमान के पायलटों की प्रतिक्रिया कानूनी, जरूरी और प्रोफेशनल थी। रेन ने अमेरिका के टोही विमानों की बढ़ती संख्या पर निंदा करते हुए कहा कि इस तरह के मिशन से चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है और चीन-अमेरिका एयर मिलिटरी सुरक्षा पर असर पड़ सकता है। 

उन्होंने कहा कि अमेरिका को इस तरह की असुरक्षित, अनप्रोफेशनल और गैरदोस्ताना मिलिटरी गतिविधियों को रोकना चाहिए। चीनी विदेश मंत्रालय के रोजाना होने वाली मीडिया ब्रीफिंग के दौरान प्रवक्ता लु कंग ने कहा कि पेइचिंग इस तरह के मिशन का विरोध करता रहा है, लेकिन दूसरे देशों के साथ आपसी विश्वास के लिए भी चीन प्रतिबद्ध है।

गौरतलब है कि रविवार को हथियार से लैस चीन के लड़ाकू विमानों ने अमेरिकी नौसेना के एक टोही विमान का काफी दूरी तक पीछा किया और बेहद खतरनाक ढंग से उस विमान के करीब आ गया। चीन के विमान US प्लेन के इतने करीब आ गए थे कि उनके बीच टक्कर हो सकती थी। जिस समय यह घटना हुई, तब अमेरिका का टोही विमान अंतरराष्ट्रीय हवाई सीमा में था। चीन के लड़ाकू विमान बेहद खतरनाक तरीके से अमेरिकी विमान के नजदीक आ गए थे। US क्रू सदस्यों ने हादसे की आशंका को टालने के लिए अपने विमान को वहां से हटा लिया। अमेरिका रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन ने सोमवार को यह जानकारी दी।