News

इमरान को नहीं दिखता चीन का पाप, राष्ट्रपति जिनपिंग ने मुसलमानों पर कहर बरपाने के लिए प्रशासन को दिया 'परमिट'

चीन अपने देश के 10 लाख उइगर मुस्लिमों पर जुल्म ढा रहा है। ये हर कोई जानता है, लेकिन अब एक ऐसा खुलासा हुआ है जो साबित करता है की चीन मुस्लिमों से बेहद नफरत करता है। मुसलमानों को लेकर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का नजरिया बेहद साफ है। उइगर मुसलमानों पर कोई रहम नहीं, लेकिन नफरत की दास्तां सिर्फ इतनी ही नहीं है। मुस्लिम औरतों के लिए भी चीन की सरकार ने शर्मनाक प्लान बनाया है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 नवंबर): चीन अपने देश के 10 लाख उइगर मुस्लिमों पर जुल्म ढा रहा है। ये हर कोई जानता है, लेकिन अब एक ऐसा खुलासा हुआ है जो साबित करता है की चीन मुस्लिमों से बेहद नफरत करता है। मुसलमानों को लेकर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का नजरिया बेहद साफ है। उइगर मुसलमानों पर कोई रहम  नहीं, लेकिन नफरत की दास्तां सिर्फ इतनी ही नहीं है। मुस्लिम औरतों के लिए भी चीन की सरकार ने शर्मनाक प्लान बनाया है।

 

अमेरिकी मीडिया में लीक हुए एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने उइगर मुस्लिमों पर बिल्कुल भी दया नहीं दिखाने के निर्देश दिए हैं। पिछले तीन साल में शिनजियांग प्रांत में लाखों मुस्लिम या तो हिरासत में ले लिए गए या फिर जेल में ठूंस दिए गए। करीब 4000 पन्नों की इस रिपोर्ट में सीधे तौर पर जिनपिंग द्वारा आदेश देने की बात नहीं की गई है। हालांकि, इसमें इनके तेजी से फैलने और इन्हें जल्द से जल्द खत्म करने की बात कही गई है। चीन के ही एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा लीक किए गए इन दस्तावेजों में यह भी दावा किया गया है कि बीजिंग इस बात से अच्छी तरह से वाकिफ है कि इसके लिए उसे आलोचना झेलनी होगी। 

लीक दस्तावेज से पता चलता है कि चीन देश के अन्य हिस्सों में भी इस्लाम पर पाबंदी लगाने की योजना बना रहा है। लीक सामग्री से यह भी पता चलता है कि कम्युनिस्ट पार्टी में असंतोष भी बढ़ रहा है। शिंजियांग प्रांत में उईगर मुस्लिमों के लंबी दाढ़ी रखने और अरबी पढ़ने पर भी रोक लगा दी गई है। मस्जिदों के बाहर वो नमाज भी नहीं पढ़ सकते हैं। सिगरेट और शराब पीने पर भी पाबंदी है।

संयुक्त राष्ट्र भी इस संबंध में पहले चिंता जता चुका है। उसके अनुसार 10 लाख से ज्यादा उइगर मुस्लिम या अल्पसंख्यक लोगों को हिरासत में रखा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक चीनी प्रशासन को आदेश दिया गया है कि वो उइगर मुसलमान महिलाओं के साथ संबंध भी बनाए। चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के ही एक सदस्य ने अखबार को ये पेपर मुहैया कराए हैं। तीन दशक में शायद यह पहली बार है कि इस तरह के दस्तावेज किसी अखबार को हाथ लगे हैं। अपना नाम गुप्त रखते हुए सदस्य ने उम्मीद जताई कि उसके द्वारा दिए गए दस्तावेज के चलते चिनफिंग समेत कम्युनिस्ट पार्टी के अन्य नेता बड़े पैमाने पर हिरासत के दोष से बच नहीं पाएंगे।

(Image Source: Google)

ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये खास रिपोर्ट...


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top