S-400 डील से डरा पाकिस्तान, अब चीन से खरीदेगा मिलिटरी ड्रोन


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (9 अक्टूबर):  भारत और रूस के बीच हुई एस-400 डील से पाकिस्तान डरा हुआ महसूस कर रहा है। इसके जवाब में पाकिस्तान और चीन के बीच मिलिटरी ड्रोन की डील हुई है। चीन ने पाकिस्तान को 48 हाई क्वॉलिटी मिलिटरी ड्रोन बेचने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान और चीन के बीच यह अपनी तरह की सबसे बड़ी डील है। चीन के अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। हालांकि इस डील में खर्च होने वाली कीमत को लेकर कोई खुलासा नहीं किया गया है। इस यूएवी (अनमैन्ड एरियल वीइकल) को चेंग्डु एयरक्राफ्ट इंडस्ट्रियल ने बनाया है।

इस पाक और चीन यूएवी को संयुक्त रूप से बनाया जाएगा। चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने यह जानकारी दी है। ग्लोबल टाइम्स में छपी रिपोर्ट में कहा, 'चीन इस्लामाबाद का सबसे बड़ा सहयोगी है। जो पाकिस्तान आर्मी का सबसे बड़ा हथियार सप्लायर भी है।' दोनों देश मिलकर सिंगल इंजन मल्टि-रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट जेएफ थंडर मैन्युफैक्चर कर रहे हैं।




खबरों की मानें तो पाकिस्तान आर्मी लंबे समय से चीन से मिलिटरी ड्राने खरीदना चाह रही है, लेकिन भारत और रूस के बीच हुई एस-400 डील के तुरंत बाद चीन पाक को ड्रोन बेचने की सहमति दे दी है। बता दें कि भारत और रूस के बीच पिछले हफ्ते द्विपक्षीय वार्ता के दौरान एस-400 डील पर मुहर लगी थी।
ग्लोबल टाइम्स का कहना है कि पाकिस्तान वायु सेना की शेरदिल एयरोबेटिक टीम की तरफ से सोशल मीडिया पर इस डील का ऐलान किया गया है। रिपोर्ट में किसी भी पक्ष की तरफ से इस डील की कुल कीमत का खुलासा नहीं किया गया है। रिपोर्ट में इस बात की जानकारी भी नहीं दी गई है कि इसकी डिलिवरी कब होगी। वहीं चेंग्दु एयरक्राफ्ट इंडस्ट्रियन ग्रुप की तरफ से भी इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई है। जिस ड्रोन की डील पाक ने चीन के साथ की है उसका नाम विंग लूंग 2 है। इसने पहली उड़ान पिछले साल फरवरी में भरी थी।