चीन में राष्‍ट्रगान का अपमान करने पर होगी 3 साल की सजा

नई दिल्ली (31 अक्टूबर): चीन ने राष्‍ट्रगान के अपमान को लेकर एक कड़ा कानून बनाया है। यहां की शीर्ष विधानपालिका राष्ट्रगान का अनादर करने वालों को 3 साल जेल की सजा दिए जाने पर विचार कर रही है।

नेशनल पीपल्स कांग्रेस (एनपीसी) स्टैंडिंग कमिटी के सोमवार से शुरू हुए द्विमासिक सत्र में सांसदों के विचार-विमर्श के लिए एक मसौदा संशोधन पेश किया गया। मसौदे के अनुसार इस मामले में उल्लंघनकर्ताओं को तीन साल कारावास तक की सजा हो सकती है। राष्ट्रगान बजाने की अनुमति एनपीसी सत्रों के उद्घाटन और समापन समेत औपचारिक राजनीतिक सभाओं, संवैधानिक शपथ ग्रहण समारोहों, ध्वजारोहण समारोहों, बड़े आयोजनों, पुरस्कार वितरण समारोहों, स्मरणोत्सवों, राष्ट्रीय मेमोरियल डे समारोह, महत्वपूर्ण राजनयिक अवसरों, बड़े खेल समारोहों और अन्य उपयुक्त अवसरों पर होगी।

मसौदा में कहा गया है कि अंतिम संस्कार, अनुचित निजी अवसरों, विज्ञापनों में या सार्वजनिक स्थानों पर पार्श्व संगीत के रूप में राष्ट्रगान का प्रयोग अनुचित होगा। पुराने कानून के अनुसार उल्लंघनकर्ताओं को 15 दिन कारावास की सजा हो सकती है या आपराधिक रूप से उत्तरदायी ठहराया जा सकता है। इन उल्लंघनकर्ताओं में राष्ट्रगान के बोल में दुर्भावनापूर्वक बदलाव करने वाले या राष्ट्रगान का अनादर करते हुए या गलत तरीके से उसे बजाने-गाने वाले लोग शामिल हैं। चीन का राष्ट्रगान कवि तियान हान ने लिखा है और इसके संगीतकार नीए एर हैं।