चीन और अमेरिका युद्ध, चीन ने यूएस को दी चेतावनी

नई दिल्ली ( 26 मार्च ): अमेरिका और चीन के बीच शुरू हुआ 'ट्रेड वॉर' का मुद्दा अब पूरे विश्व में चर्चा का विषय बन गया है। पेइचिंग में चाइना डिवेलपमेंट फोरम में यह मुद्दा छाया रहा। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की मानें तो फोरम में सभी एग्जिक्यूटिव्स और विद्वानों ने, जिनमें अमेरिका के लोग भी शामिल थे, ट्रेड वॉर के जोखिम को लेकर चेताया। ग्लोबल टाइम्स ने पूर्व यूएस ट्रेजरी सेक्रेटरी के हवाले से कहा, 'न्यूक्लियर वॉर की तरह ही ट्रेड वॉर को किसी भी कीमत पर टाला जाना चाहिए'।

ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि अमेरिका इन चिंताओं को सुनने को तैयार नहीं है। शुक्रवार को व्हाइट हाउस ने बयान दिया कि चीन के खिलाफ टैरिफ बढ़ाने के अमेरिकी फैसले का काम पहले ही शुरू हो चुका है और 'कई अन्य देश 'फेयर ट्रेड डील' के लिए अमेरिका से बात कर रहे हैं।' 

ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि वॉशिंगटन को सबक सिखाने की जरूरत है और यह कार्य सिर्फ चीन कर सकता है, जो दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। कुछ लोगों को सोचना है कि चीन को इस मामले में शांत रहते हुए अन्य देशों को नेतृत्व करने देना चाहिए, लेकिन दुनिया का ट्रेड पावर हाउस होने के नाते चीन को अपने हितों के लिए आवाज उठानी होगी। 

पेइचिंग और वॉशिंगटन को अंतत: बातचीत करनी ही होगी। किसी भी सूरत में हम उस संभावना पर अपने कार्यों का आधार नहीं कर सकते। रिपोर्ट में कहा गया, 'हमें बुरी से बुरी स्थिति के लिए तैयार रहना होगा।' 

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन इससे पीछे हटने वाला नहीं है। चीन या तो बढ़ती भूख के साथ वॉशिंगटन द्वारा कुचल दिया जाएगा या फिर वह ऐतिहासिक ट्रेड वॉर में आगे बढ़ेगा और अमेरिका को चीन की ताकत के बारे में बताएगा और यह सुनिश्चित करेगा कि चीन का सम्मान हमेशा के लिए कायम हो जाए।