नवाज़ का तख्ता पलटने में पाक आर्मी और रहील शरीफ का साथ देगा चीन !

नई दिल्ली (12 अक्टूबर): भारत के सर्जिकल ऑपरेशन के 12 दिन बाद पाकिस्तान में तख्ता पलट की आशंकाएं फिर से बढ़ रही हैं। पाकिस्तानी मीडिया और इस्लामाबाद के गलियारों में इस बात को लेकर फुसफुसाहट है कि रहील शरीफ ने कुछ दूतावासों में संपर्क किया है और पाकिस्तान में सैनिक शासन के लिए समर्थन की संभावनाएं तलाशी हैं।

ऐसा माना जा रहा है कि चीन की तरफ से तटस्थ रह कर रहील शरीफ को समर्थन का वायदा मिल गया है। चीन वैसे भी सीपेक सुरक्षा के बहाने सीधे जनरल रहील के संपर्क में है। चीन का विश्वास पहले से ही पाकिस्तान की नागरिक सरकार पर नहीं है। मोदी के अचानक लाहौर दौरे और नवाज़ शरीफ की अगवानी को देखकर चीन ने आर्मी चीफ को ज्यादा तवज्जोह देनी शुरु कर दी थी। हालांकि, इस समय मोदी और नवाज़ शरीफ के संपर्क टूट चुके हैं, लेकिन चीन की तरफदारी अब भी सिविलियन सरकार से सेना को मिल रही है।

रहील शरीफ के आड़े सऊदी अरब आ रहा है। रहील के सूत्रों ने सऊदी अरब को मनाने का जिम्मा अपने चीनी संपर्को को सौंपा है। एक्सटेंशन लेने से मना कर चुके जनरल रहील शरीफ को पाकिस्तानी जनता का भी समर्थन है। ऐसी भी खबरें हैं किसरकार और सेना में टकराव की बातें आम लोगों के सामने आने के बाद पाकिस्तानी सेना के कई जनरल और कट्टरपंथी गुट भी बगावत की स्थिति में  रहील शरीफ के साथ खड़े होने का आश्वासन दे चुके हैं।