चालबाज चीन का आतंकी चेहरा आया सामने, मसूद अजहर के बैन में बना रोड़ा

नई दिल्ली (30 दिसंबर): चीन अपनी चालबाजी से बाज नहीं आ रहा है। चीन ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के मुद्दे पर अपना असली चेहरा दिखा दिया है। पाकिस्तान के बहकावे में आकर चीन ने मसूद अजहर को यूएन में आतंकी घोषित किए जाने के मुद्दे पर अपना रूख साफ करते हुए 'होल्ड' को 'ब्लॉक' में बदल दिया है। इससे अजहर पर प्रतिबंध की भारत की कोशिशों पर विराम लग गया है। इससे पाकिस्तान को हर हाल में समर्थन देने की चीन की मंशा साफ हो गई है। चीन के इस कदम से जैश-ए-मोहम्मद अब प्रतिबंधित आंतकी संगठनों की सूचि में शामिल नहीं हो पाएगा।

जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मसूद अजहर पंजाब के पठानकोट स्थित एयरफोर्स बेस पर इस साल की शुरुआत में हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है। भारत ने इस साल 31 मार्च को संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव रखा था, जिसमें चीन ने अड़ंगा लगा दिया था। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 15 देशों के समूह में अकेला चीन ही ऐसा है, जिसने अजहर को आतंकी घोषित किए जाने के फैसले को 'होल्ड' पर रखा था। अब चीन ने इस होल्ड को ब्लॉक में बदल दिया है।