साउथ चाइना सी विवादः चीन ने अब अमेरिका को धौंस दिखायी

नई दिल्ली (18 दिसंबर): चीन ने अपने सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के माध्यम से अमेरिका को दक्षिण चीन सागर में जासूसी करना बंद की चेतावनी दी है। ग्लोबल टाइम्स की एक रिपोर्ट में सैन्य विश्लेषकों के हवाले से कहा गया है कि अमेरिका को साउथ चाइना सी में जासूसी रोक देनी चाहिए। पेइचिंग स्थित नेवी एक्सपर्ट ली जेई ने कहा, 'यह पहला मौका नहीं है, जब हमने दक्षिण चीन सागर में जल के भीतर अमेरिकी ड्रोन को सीज किया है। लेकिन गुरुवार को जो ड्रोन सीज किया गया है, वह पहले से अडवांस है और वह दक्षिण चीन सागर में मौजूद अधिक कीमती सूचनाओं को हासिल कर सकता है।'

ली जेई ने कहा कि यही वजह है जिसके कारण ड्रोन पकड़े जाने पर अमेरिका बहुत नर्वस है। इससे पहले उपकरण जब्त किए जाने पर उसने शांति बरती थी, जबकि इस बार वह मीडिया हाइप बनाने की कोशिश कर रहा है। ली ने कहा कि अमेरिका को इस बात का पता था कि ऐसी जासूसी हरकतें सही नहीं हैं। शनिवार को ही चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था, 'अमेरिका को चीन उचित ढंग से उसका जब्त किया गया ड्रोन लौटाएगा।'

चीन के फीनिक्स टीवी से जुड़े मिलिट्री कॉमेंटेटर सॉन्ग झॉन्गपिंग ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि इस तरह का अंडरवॉटर व्हीकल समुद्र के भीतर मौजूद हाइड्रो इंटेलिजेंस और तापमान से जुड़ी अगम जानकारियां हासिल कर सकता है। सॉन्ग ने कहा कि खासतौर पर ऐसे उपकरण मिलिट्री इंटेलिजेंस भी हासिल कर सकते हैं, जैसे सबमरीन्स के मूवमेंट की जानकारी को भी रिसीव किया जा सकता है। सॉन्ग ने कहा कि साउथ चाइना सी वह रणनीतिक स्थान है, जो चीन के नेवी सबमरीन्स और न्यूक्लियर सबमरीन्स के लिए बहुत महत्व रखता है।