चीन और रूस ने शुरू किया युद्धाभ्यास, 8 दिन तक चलेगा

बीजिंग (13 सितंबर): भारत के सबसे अच्छे दोस्त रूस ने साउथ चाइना सी विवाद के बावजूद चीन के साथ एक बड़ा नौसैनिक युद्धाभ्यास शुरू किया। माना जा रहा है कि यह युद्धाभ्यास अमेरिकी को जवाब देने के लिए किया जा रहा है।

आठ दिन तक चलने वाले 'जॉइंट सी 2016' में अब तक के सबसे बड़े पैमाने पर अभ्यास और डिजिटलीकरण दिखेगा। चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ ने बताया कि एक रूसी बेड़ा सोमवार को गुआंगदोंग प्रांत में झानजियांग बंदरगाह पर पहुंचा। युद्धाभ्यास गुआंगदोंग तट से दूर होगा। यह विवादित क्षेत्र से दूर है।

दोनों देशों के सैनिक संयुक्त हवाई रक्षा, पनडुब्बी रोधी अभियान, लैंडिंग, द्वीप पर कब्जा करने, तलाश व बचाव और हथियारों के इस्तेमाल का अभ्यास करेंगे। चीनी नौसेना के कुल 10 जहाज युद्धाभ्यास में हिस्सा ले रहे हैं। इसमें विध्वंसक जहाज, फ्रिगेट, लैंडिंग जहाज, आपूर्ति जहाज और पनडुब्बी शामिल हैं। इसके अलावा 11 फिक्स्ड विंग विमान, आठ हेलिकॉप्टर के साथ-साथ जमीन और पानी में काम आने वाले बख्तरबंद उपकरण शामिल हैं।