मसूद अजहर को लेकर चीन ने चली यह नई चाल...

नई दिल्ली (10 अक्टूबर): चीन ने संयुक्त राष्ट्र में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को आतंकी घोषित कराने के भारत के अभियान को करारा झटका दिया है। चीन के उप विदेश मंत्री ली बाडोंग ने नसीहत देते हुए कहा कि वह राजनीतिक फायदे के लिए ऐसे किसी भी प्रयास का समर्थन नहीं करेगा।

चीन ने कहा, 'काउंटर टेररेजम के नाम पर कोई देश राजनीतिक फायदा नहीं उठा सकता है।' चीन के इस बयान के बाद आतंकी मसूद अजहर को 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद में आतंकी घोषित कराने के भारत के प्रयास को करारा झटका लगा है। सुरक्षा परिषद के 14 सदस्य भारत के अभियान के साथ है, लेकिन सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य ने इसपर वीटो का इस्तेमाल कर दिया था।

बाडोंग ने कहा,' चीन हर प्रकार के आतंकवाद का विरोध करता है। लेकिन इसपर दोहरे मापदंड नहीं होने चाहिए। काउंटर टेररेज के नाम पर किसी को इसका राजनीतिक फायदा नहीं लेना चाहिए।' पिछले सप्ताह चीन ने संयुक्त राष्ट्र में दूसरी बार भारत के रेजॉलूशन में बाधा डालने का काम किया।

दरअसल, अगर मसूद को यूएन की काउंटर टेररेजम कमिटी अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित कर देती है तो यूएन के सदस्य देश के नाते पाकिस्तान को मसूद और उसके संगठन के खिलाफ प्रतिबंध लगाने समेत दूसरी कड़ी कार्रवाई करनी होगी। पाकिस्तान ऐसा कतई नहीं चाहता और चीन इसमें उसकी की मदद कर रहा है।