अमेरिका ताइवान को बेचेगा हथियार, चीन को लगी मिर्ची

नई दिल्ली(30 जून): अमेरिका के ताइवान को हथियार बेचने से चीन नाराज हो गया है। अमेरिका में चीन के राजदूत ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इनसे द्विपक्षीय संबंध कमजोर पड़ जाएगा। 

चीनी राजदूत कुई तियानकाई ने कहा कि इससे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच अप्रैल में फ्लोरिडा शिखर सम्मेलन की भावना पर भी प्रतिकूल असर पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि और ये सभी कार्य  चीनी कंपनियों के खिलाफ प्रतिबंध और विशेष रूप से ताइवान से हथियारों की बिक्री से  निश्चित रूप से दोनों पक्षों के बीच परस्पर विश्वास को कमजोर करेगा।

बता दें अमेरिका ने ताइवान को करीब 1.42 अरब डालर के हथियार बेचने की योजना बनाई है। अमेरिका विदेश विभाग के प्रवक्ता हीथर नॉर्ट ने कहा कि ट्रंप प्रशासन ने इस आशय के प्रस्ताव के बारे में कांग्रेस को जानकारी दे दी। उन्होंने कहा कि यह बिक्री अमेरिका को ताइवान की पर्याप्त क्षमता बनाए रखने के लिए समर्तन दिखाती है। उन्होंने इस बात पर भी कि अमेरिका की लंबे समय से वन चाइना नीति में कोी बदलाव नहीं हुआ है।