VIDEO: सीमा विवाद के बीच चीन ने छेड़ा कश्मीर राग, विवाद सुलझाने में मध्यस्थता की पेशकश

बीजिंग (13 जुलाई): चीन अपनी चालबाजी से बाज नहीं आ रहा है। डोकालाम में जारी तनाव के बीच चीन ने एक बार फिर से कश्मीर का राग छेड़ दिया है। चीनी मंत्रालय ने कश्मीर विवाद को सुलझाने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की पेशकश की। चीन अपनी इस चाल से कश्मीर मुद्दे की इस स्थिति ने अंतरराष्ट्रीय ध्यान अपनी ओर खींचा है। चीन ने यह भी कहा कि वह इस मसले पर रचनात्मक भूमिका निभाने के लिए तैयार है और नियंत्रण रेखा के साथ संघर्ष दक्षिण एशिया क्षेत्र के लिए अनुकूल नहीं था।


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने अपनी नियमित ब्रीफिंग के दौरान कहा कि कश्मीर की स्थिति ने बड़े पैमाने पर पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है। उन्होंने कहा कि हम आशा करते हैं कि प्रासंगिक पक्ष इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता के लिए और अधिक तनाव से बचने के लिए काफी कुछ कर सकते हैं।


हालांकि, चीन की ओर से की गई मध्यस्थता की पेशकश को नई दिल्ली ने ठुकरा दिया क्योंकि चीन अब तक अपने विवाद को भारत के साथ हल नहीं कर पाया है। पर्यवेक्षक ने कहा कि चीन पहले ही पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सड़क के निर्माण के लिए पक्षपातपूर्ण साबित हुआ है, जिस पर भारत दावा करता है।


इससे पहले विदेश सचिव एस जयशंकर ने डोकलम पर हुए मतभेद को हल करने के लिए एक बैठक की और कहा कि भारत-चीन शांतिपूर्ण तरीके से मामला सुलझा सकते हैं। उन्होंने कहा कि अतीत में भी वह इसी तरह की स्थिति तो संभाल चुके हैं। मगर, इसके एक दिन बाद बीजिंग ने भारत के इस कदम को खारिज कर दिया और कहा कि इस समय स्थिति पूरी तरह से अलग है।


ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये खास रिपोर्ट...


वीडियो: