भारत को घेरने में जुटा चीन, माउंट एवरेस्ट में सुरंग बनाकर नेपाल में बिछाएगा रेल लाइन

काठमांडू (7 नवंबर): नेपाल में चीन रेल लाइन बनाना चाहता है। इसके लिए चीन का एक हाई लेवल कमेटी काठमांडू पहुंचा है। ये कमेटी नेपाल में रेल लाइन बिछाने और उसके कनेक्टीवीटी का अध्ययन करेगा और नेपाल सरकार के साथ इस पर सहमति बनाने की कोशिश करेगा।

चीनी विदेश मंत्रालय के मुताबिक चीन सरकार अपने संस्थानों को इस इंटरनल रेलवे लाइन के निर्माण के लिए आगे करेगा। पहले भी तिब्बत से गुजरते हुए शिगत्से से ग्यीरोंग होते हुए नेपाल तक जाने वाली रल लाइन के बनाने पर विचार कर रहा है। भौगोलिक हालातों की वजह से इस निर्माण पर काफी खर्च होने की संभावना। बताया जा रहा है कि इस पर 4 बिलियन डॉलर खर्च आने की संभावना है। 

चीन का इरादा माउंट एवरेस्ट के नीचे सुरंग बनाकर काठमांडू तक रेल लाइन बिछाने का है। बीजिंग से ल्हासा और फिर ल्हासा से सिगात्ज़े तक रेल लाइन बिछ चुकी है। सिगात्ज़े, नेपाल सीमा के क़रीब है। इस रेल लिंक को आगे बढ़ाकर चीन काठमांडू तक पहुंच सकता है, लेकिन इसके बीच माउंट एवरेस्ट खड़ा है। तिब्बत तक रेल पहुंचाने में चीन ने जिस तरह से सुरंग और पुल को बनाने में महारथ हासिल कर ली है ऐसे में ये चुनौती बड़ी नहीं। नेपाल तक सीधी पहुंच के लिहाज़ से ये बहुत अहम है।