चीन के रक्षा मंत्री ने कहा- युद्ध के लिए तैयार रहें

नई दिल्ली (2 अगस्त): हमारे पड़ोसी देश चीन से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। देश की संप्रभुता, अखंडता और समुद्री अधिकारों की रक्षा करने के लिए सेना, पुलिस और लोग युद्ध के लिए तैयार रहें।

चीनी रक्षा मंत्री चांग वानकुआन ने साउथ चाइना सी विवाद पर अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट के फैसले के बाद यह बयान दिया। आपको बता दें कि अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट ने साउथ चाइना सी पर उसके कब्जे की बात को खारिज कर दिया था। इसके बाद रक्षा मंत्री ने कहा कि अपतटीय सुरक्षा खतरों का मुकाबला करने और संप्रभुता की रक्षा करने के लिए  युद्ध के लिए तैयार रहें।

चीनी रक्षा मंत्री चांग वानकुआन ने यह भी स्पष्ट किया कि चीन की सेना समुद्री सीमा में किसी भी तरह के खतरे या उकसावे वाली कार्रवाई से निपटने में सक्षम है। चान ने कहा, "पीएलए देश की संप्रभुता, अखंडता और समुद्री अधिकारों की रक्षा करने के लिए अटल है। सेना किसी भी वक्त युद्ध करने और उसे जीतने में पूरी तरह समर्थ है।" 23 लाख अधिकारियों और जवानों के साथ चीन की सेना दुनिया में सबसे बड़ी है।

चान ने हालांकि अपने संबोधन में दक्षिण चीन सागर का स्पष्ट तौर पर उल्लेख नहीं किया, लेकिन इस क्षेत्र पर दावा करने वाले अन्य देशों के लिए उनका संकेत साफ था। चीन और फिलीपींस के अलावा मलेशिया, वियतनाम, ब्रुनेई और ताइवान भी दक्षिण चीन सागर पर अपने-अपने दावे ठोकते हैं। इसके अलावा अमेरिका भी इस क्षेत्र में मुक्त नौवहन का हिमायती है। दक्षिण चीन सागर पर बढ़ते तनाव के बीच चीन ने अपने समुद्री अधिकारों की हर हाल में रक्षा करने की बात कही है। चीनी रक्षा मंत्री चांग वानकुआन ने यह भी स्पष्ट किया कि चीन की सेना समुद्री सीमा में किसी भी तरह के खतरे या उकसावे वाली कार्रवाई से निपटने में सक्षम है।