सुषमा स्वराज के जवाब से बौखलाया चीन, अब दी ये धमकी

बीजिंग (21 जुलाई): विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के करारा जवाब से चीन बौखला गया है। चीन ने एकबार फिर भारत को युद्ध की गीदड़ भभकी दी है। चीन की सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने भारत के खिलाफ जहर उगलते हुए संपादकीय में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के डोकलाम में जारी गतिरोध पर दिए गए बयान को झूठा बताया है। 

चीन अखबार ने डोकलाम से दोनों देशों द्वारा एक साथ सेनाएं हटाने की भारत की मांग को दिवास्वप्न बताया है। ग्लोबल टाइम्स ने अपने संपादकीय में लिखा गया है कि अगर भारत अपने सैनिक नहीं हटाता है तो चीन के पास आखिरी विकल्प है उससे लड़ाई और बगैर किसी कूटनीति के लड़ाई का खात्मा। अखबार ने कहा है कि सीमा पर सैन्य साजोसामान और गोलाबारूद पहुंचाने के मामले में चीन की क्षमता भारत से बहुत ज्यादा है और चीनी सैनिक कभी भी कहीं भी पहुंच सकते हैं और चीन-भारत सीमा चीन के लिए अपने प्रशिक्षण और सुधार को दर्शाने वाला प्रदर्शनस्थल बन जाएगी।

चीनी अखबार ने लिखा है कि अगर चीन और भारत के बीच युद्ध होगा तो अमेरिका और जापान उसकी मदद नहीं करेंगे। चीनी अखबार ने लिखा है कि चीनी जनता भी भारत के खिलाफ युद्ध की कीमत पर भी एक-एक इंच भूमि की रक्षा की समर्थक है। चीनी अखबार ने लिखा है कि भले ही भारतीय सैनिकों की संख्या ज्यादा हो लेकिन चीनी सेना के तेज परिवहन क्षमता से किसी भी मोर्च की स्थिति बहुत कम समय में बदल सकती है। चीनी अखबार ने लिखा है कि भारत ने 1962 में भी चीन को आंकने में गलती की थी जिसकी उसे कीमत चुकानी पड़ी थी।

ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि भारतीय विदेश मंत्री ने झूठ बोला है। भारत ने उस इलाके में घुसपैठ किया है और भारत के रवैये से पूरी दुनिया हैरान है और उसे किसी देश का समर्थन नहीं मिल रहा है। साथ ही अखबार ने लिखा है कि सैन्य क्षमता के मामले में भारत चीन से बहुत पीछे है और मामले ने सैन्य समाधार का रुख किया तो इसमें कोई संदेह नहीं कि हार भारत को होगी।


आपको बता दें कि भारतीय विदेश मंत्री ने संसद के मॉनसूत्र में साफ किया था कि चीन डोकलाम के त्रिमुहाने वाले इलाके में यथास्थिति बदलना चाहता है और इससे भारत की सुरक्षा पर गंभीर असर पड़ सकता है। डोकलाम इलाके में चीन भारी सैन्य वाहन और टैंक की आवाजाही लायक सड़क बनाना चाहता है। डोकलाम इलाके को चीन अपना डोंगलॉन्ग इलाका बताता है।