'किलर' मांझे ने छीन ली मासूम की जिदंगी

नई दिल्ली (16 अगस्त): पतंग उड़ाने वाला मांझा एक बार फिर जानलेवा साबित हुआ। इस मांझे की चपेट में आकर कई लोग घायल हुए। सबसे दर्दनाक हादसा दिल्ली के रानीबाग में हुआ, जहां होंडा सिटी कार की रूफ विंडो से झांकती 3 साल की बच्ची की गर्दन मांझे से कट गई।

अस्पताल पहुंचने से पहले ही बच्ची ने दम तोड़ दिया। दिल्ली के विकासपुरी में मांझे की चपेट में आकर एक बाइकसवार की मौत हो गई, वहीं गाजीपुर बॉर्डर के पास बाइकसावर की गले की नस कट गई। दिल्ली के रानीबाग में मांझे से दर्दनाक हादसा उस वक्त हुआ, जब तीन साल की एक बच्ची मां की गोद के सहारे कार की रूफ विंडो से बाहर झांक रही थी। पिता ड्राइविंग कर रहे थे। दोनों को पता ही नहीं चला कि कब उनकी इकलौती बेटी की गर्दन मांझे से कटी। उन्हें लग रहा था कि बेटी खुशी से किलकारियां भर रही है।

जब वह खून से लथपथ निढाल होकर उनकी गोद में गिरी तो सन्न रह गए। मांझा उसकी गर्दन में फंसा था। वे उसे लेकर फौरन अस्पताल भागे, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची की सांसें रुक गई हैं। पुलिस के अनुसार, मृत बच्ची का नाम सांची गोयल है। उसके पिता आलोक गोयल का लकड़ी का व्यवसाय है।

इस घटना के अलावा 14 अगस्त की शाम विकासपुरी में एक युवक की मांझे से गला कटने के कारण मौत हो गई। कल गाजीपुर बॉर्डर के पास एक बाइक सवार की गर्दन मांझे से कट गई। उनकी हालत गंभीर है।