अमरिकी राष्ट्रपति बनते ही चीन पर ट्रंप का पहला घातक हमला!

नई दिल्ली (21 दिसंबर): अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप के नेतृत्व में गठित की  सरकार के नामित वित्त मंत्री स्टीवेन न्यूचिन ने कहा है कि देश की नई सरकार चीन के साथ नरमी नहीं करेगी और चीन को ‘विनिमय दर में हेराफेरी करने वाला’ देश (फ्रॉडुलैंट स्टेट) घोषित किया जा सकता है। अमेरिका के बाद चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। न्यूचिन अपनी नियुक्ति पर संसद के अनुमोदन के लिए सांसदों की समिति के समक्ष सवालों का जवाब दे रहे थे। यह पूछे जाने पर कि क्या आप चीन को विनिमय दर में हेराफेरी करने वाला घोषित करेंगे जैसा कि ट्रंप ने अपने चुनाव प्रचार में कहा था तो न्यूचिन का जवाब था, ‘मैं करूंगा।’ 

उन्होंने सीनेट की वित्त संबंधी समिति के समक्ष कहा कि ‘जहां तक चीन के बारे में मेरा मत है, मैं राष्ट्रपति के दृष्टिकोण से शत प्रतिशत सहमत हूं, हमें चीन को संपूर्ण दृष्टिकोण से देखना चाहिए, उसे व्यापार दृष्टिकोण से, आर्थिक और सुरक्षा के दृष्टिकोण से देखा जाना चाहिए।’ इस सुनवाई में सांसदों ने भी चीन के आक्रामक व्यवहार और व्यापार के तौर तरीकों पर चिंता जताई थी। सीनेट के सदस्य शेर्राड ब्राउन ने कहा कि उन्हें कभी भी गोल्डमैन साक्स का कोई ऐसा बैंक अधिकारी नहीं मिला जो चीन के साथ कठोरता के पक्ष में हो। आप (न्यूचिन) वॉल स्ट्रीट यानी अमेरिका के वित्तीय बाजार में काम कर चुके हैं, और मैंने बैंक के जिस व्यवहार को देखा है उससे मैं चिंतित हूं क्योंकि मैं उस व्यवहार को चीन के प्रति नरम कहूंगा।’