एमटीसीआर की सदस्यता से बौखलाया चीन, पढ़िए भारत को क्या-क्या नहीं कहा

नई दिल्ली (28 जून): भारत को मिसाइल टेक्नालॉजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) की सदस्यता मिलने के बाद चीन बौखला गया है। अपनी इस निराशा को उसने अपने अखबार ग्लोबल टाइम्स में भारत को स्वार्थी, खुदगर्ज और नैतिकता की कमी वाला देश बताया  है। लेख में भारत को यूएस, फ्रांस और कनाडा की चमचागिरी करने वाला भी कहा गया है। लेख के मुताबिक, भारत को राष्ट्रवाद की समझ नहीं है और उसे राष्ट्रवाद चीन से सीखना चाहिए। 

ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि कुछ सालों से पश्चिम के देश भारत के साथ घुल-मिल रहे हैं और चीन से दूरियां बना रहे हैं। यह सिर्फ भारत की चापलूसी की वजह से है। इस लेख में चीन ने अपनी बुराई नहीं की है। लेख में इस बात का जिक्र बिल्कुल भी नहीं किया गया है कि उसके परमाणु प्रसार के चलते एमटीसीआर में भेजे गये उसके आवेदन को 2008 में ही रद्द कर दिया गया था।

एमटीसीआर का सदस्य बनने के बाद भारत का पलडा़ भारी है। चीन अब भी एमटीसीआर का मेंबर बनना चाहता है, लेकिन अब उसे मेंबरशिप के लिए भारत की सहमति लेनी होगी यै फिर एमटीसीआर का ख्वाब हमेशा के लिए छोड़ना पड़ेगा। ग्लोबल टाइम्स में छपे लेख में उसकी यही बौखलाहट सामने आ रही है।